|

तेजी से फैल रहा है टमाटर का बुखार (Tomato fever), जानिए क्या हैं लक्षण? ये लोग जोखिम में हैं, लक्षण, उपचार और सावधानियां

तेजी से फैल रहा है टमाटर का बुखार (Tomato fever), जानिए क्या हैं लक्षण? ये लोग जोखिम में हैं, लक्षण, उपचार और सावधानियां

क्या है Tomato fever-टोमैटो फीवर: टोमैटो फ्लू जिसे हिंदी में टोमैटो फीवर कहते हैं, भारत में तेजी से फैल रहा है, बच्चों को तेजी से अपनी चपेट में लेने वाले इस बुखार के बारे में कहा जा रहा है. इस बुखार से पीड़ित रोगी की त्वचा पर लाल चकत्ते, त्वचा में जलन और निर्जलीकरण (dehydration) के लक्षण दिखाई दे रहे हैं।

तेजी से फैल रहा है टमाटर का बुखार (Tomato fever), जानिए क्या हैं लक्षण? ये लोग जोखिम में हैं, लक्षण, उपचार और सावधानियां
IMAGE SOURCE: india.com

तेजी से फैल रहा है टमाटर का बुखार (Tomato fever), जानिए क्या हैं लक्षण? ये लोग जोखिम में हैं, लक्षण, उपचार और सावधानियां

क्या आप सभी जानना चाहते हैं कि टमाटर फ्लू या tomato fever क्या है? यह कैसे फैलता है और इससे कैसे बचा जा सकता है? इन सब के बारे में इस पेज में जानकारी दे हैं।

भारत में Tomato Fever: पूरी दुनिया के साथ-साथ भारत भी पिछले कुछ सालों से कोरोना महामारी से लड़ रहा है. कोरोना महामारी के बाद मंकीपॉक्स ने भारत समेत दुनिया भर में चिंता बधाई और अब एक नई बीमारी ने दस्तक दे दी है। हैंड फुट माउथ डिजीज (एचएफएमडी-HFMD), जिसे टमाटर बुखार भी कहा जाता है, स्वास्थ्य विशेषज्ञों के लिए चिंता और चुनौती का विषय बन गया है क्योंकि यह बच्चों को तेजी से प्रभावित कर रहा है।

लैंसेट रेस्पिरेटरी जर्नल-Lancet Respiratory Journal के एक अध्ययन के अनुसार, भारत के दक्षिणी राज्य केरल में 6 मई 2022 को टमाटर फ्लू का पहला मामला सामने आया था और अब तक 82 मामले दर्ज किए जा चुके हैं। यह खतरनाक बुखार तेजी से एक से पांच साल के बच्चों और ऐसे वयस्कों को अपना शिकार बना रहा है जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता (weak immunity) कमजोर है।

हाल ही के एक अध्ययन (लैंसेट रेस्पिरेटरी जर्नल) में कहा गया है कि “जैसा कि हम COVID-19 की चौथी लहर के संभावित खतरे से निपटते हैं, एक नया वायरस, जिसे टोमैटो फ्लू के रूप में जाना जाता है, केरल राज्य में, भारत में रिपोर्ट किया गया है। यह अधिकांशतः 5 साल से कम उम्र के बच्चों में देखा गया है। राज्य में अब तक 82 मामले सामने आए हैं।” अब ऐसे में टमाटर बुखार से बचने के लिए यह जानना बेहद जरूरी है कि टमाटर फ्लू या टमाटर बुखार क्या है। यह कैसे फैलता है? लक्षण क्या हैं और उनसे कैसे बचा जा सकता है?

Indiatoday के अनुसार, लैंसेट अध्ययन में कहा गया है कि टमाटर फ्लू के लक्षण कोविड-19 वायरस के समान ही होते हैं। लेकिन यह वायरस SARS-CoV-2 से बिल्कुल भी संबंधित नहीं है, यह पूरी तरह से अलग है। चिकनगुनिया या डेंगू बुखार के बाद बच्चों में टमाटर फ्लू हो सकता है। इस फ्लू का नाम टोमैटो फ्लू है क्योंकि इससे पूरे शरीर पर लाल रंग के और दर्दनाक छाले हो जाते हैं। इन फफोले का आकार भी टमाटर के बराबर हो सकता है।

टमाटर फ्लू का खतरा सबसे ज्यादा किसे है?

लैंसेट की रिपोर्ट में (the Lancet report) कहा गया है, “बच्चों को टमाटर फ्लू के संपर्क में आने का सबसे अधिक खतरा है क्योंकि यह वायरल संक्रमण पांच साल से कम उम्र में बच्चों को बहुत जल्दी प्रभावित करता है।”

डॉक्टरों ने चेतावनी दी है कि पांच साल से कम उम्र के बच्चे इस स्थिति से सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं। विशेष रूप से टमाटर फ्लू, लेकिन राहत की बात यह है कि अत्यधिक संक्रामक होने के बावजूद, यह जीवन के लिए खतरा पैदा नहीं करता है।

टमाटर फ्लू के लक्षण क्या हैं? इन्हें कैसे पहचाने

अगर हम इसके लक्षणों की बात करें तो टमाटर फ्लू से प्रभावित या इसके संपर्क में आने वाले बच्चों में दिखाई देने वाले प्राथमिक लक्षण चिकनगुनिया या डेंगू बुखार के समान होते हैं। इस बुखार से प्रभावित रोगी के लक्षणों में तेज बुखार, शरीर पर दाने, जोड़ों में सूजन, उल्टी, दस्त, निर्जलीकरण (dehydration) और गंभीर जोड़ों का दर्द शामिल हैं। अन्य लक्षण शरीर में दर्द, बुखार और थकान महसूस करना हैं जो कोविड -19 रोगियों द्वारा भी अनुभव किए गए थे। कुछ मामलों में, रोगियों की त्वचा पर फफोले का आकार काफी बढ़ गया (टमाटर के आकार का)।

टमाटर फ्लू किस कारण से फैलता है?

टमाटर फ्लू के विशिष्ट कारण का पता लगाने के लिए वैज्ञानिक अभी भी शोध कर रहे हैं, लेकिन वर्तमान में इसे एक सामान्य वायरल संक्रमण का संशोधित रूप माना जा रहा है। कुछ लोगों ने यह भी सुझाव दिया है कि यह डेंगू या चिकनगुनिया का दुष्प्रभाव हो सकता है। वैज्ञानिकों के अनुसार इसका स्रोत एक वायरस है लेकिन अभी तक इस बात की पुख्ता जानकारी सामने नहीं आई है कि यह वास्तव में कौन सा वायरस फैल रहा है या किस वायरस से संबंधित है।

टमाटर फ्लू का इलाज क्या है?

टमाटर फ्लू से बचने के लिए डॉक्टर नियमित सफाई की सलाह देते हैं। माना जाता है कि यह वायरस पांच साल से कम उम्र के बच्चों के लिए अधिक घातक है। अगर किसी को अपने बच्चे में ऊपर बताए गए लक्षणों में से कोई भी लक्षण दिखे तो तुरंत किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करें।

इस बुखार से संक्रमित बच्चों या वयस्कों को फफोले को फोड़ने और खरोंचने से बचना चाहिए। अधिक से अधिक पानी पीना। अगर किसी को ऐसा कोई लक्षण नजर आता है तो इसका मतलब यह नहीं है कि उसे टमाटर का बुखार है। धैर्य रखें और कोई भी दवाई डॉक्टर की सलाह के बाद ही खाएं।

SOURCE: AMAR UJALA, INDIA.COM

ALSO READ-

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *