सिंधु सभ्यता की प्रमुख विशेषताएं: सामाजिक, आर्थिक, धर्मिक और राजनीतिक जीवन

Share this Post

हड़प्पा सभ्यता अथवा सिंधु सभ्यता जो विश्व की सबसे प्राचीन सभ्यताओं में से एक है। उस सभ्यता के निवासी जिस प्रकार अपना जीवन व्यतीत करते थे वह निश्चित ही आधुनिक सभ्यता को टक्कर देता है। आज इस ब्लॉग में हम हड़प्पा सभ्यता के सामाजिक , आर्थिक, धार्मिक, राजनीतिक और कला का अध्ययन करेंगें।

सिंधु सभ्यता की प्रमुख विशेषताएं: सामाजिक, आर्थिक, धर्मिक और राजनीतिक जीवन

सिंधु सभ्यता- Indus Valley Civilization

हड़प्पा सभ्यता एक प्राचीन भारतीय सभ्यता थी, जो बौद्धिक और वाणिज्यिक विकास के लिए जानी जाती है। यह सभ्यता क्रिस्तपूर्व 2600 से 1900 ईस्वी तक विकसित हुई थी और उत्तर पश्चिम भारत के पाकिस्तान और हरियाणा क्षेत्र में स्थित थी।

हड़प्पा सभ्यता के लोग विशाल शहरों में रहते थे और वस्तुओं के व्यापार करते थे। इन शहरों के आधार पर, इस सभ्यता के लोगों को शहरी भी माना जाता है।

इस सभ्यता के लोगों का जीवन ध्यान केंद्रित था और इनकी संस्कृति धार्मिक रूप से समृद्ध थी। इस सभ्यता की सबसे महत्वपूर्ण विशेषताओं में से एक उनकी भाषा है, जो अभी भी समझ में नहीं आती है। इसके अलावा, हड़प्पा सभ्यता ने मोहनजोदड़ो सभ्यता के साथ व्यापार किया था और इसके साथ-साथ उनकी संचार और नौसेना कौशल भी उत्कृष्ट थे।

हड़प्पा सभ्यता के लोगों का सामाजिक जीवन- Social Life

हड़प्पा सभ्यता के लोगों का सामाजिक और आर्थिक जीवन व्यवस्थित और संगठित था। सिंधु घाटी की आबादी में आस्ट्रेलियाई, भूमध्यसागरीय, मंगोलॉयड और अल्पाइन जातियां शामिल थीं। मोहनजोदड़ो की अनुमानित जनसंख्या 35000 थी।

हड़प्पा सभ्यता के लोगों का सामाजिक जीवन
हड़प्पावासियों का भोजन-Harappan food

हड़प्पावासियों के भोजन की आपूर्ति शहर के आसपास के क्षेत्रों में खेती वाले व्यापक क्षेत्रों से की जाती थी। चावल शायद सिंधु घाटी में उगाया जाता था। लोगों के मुख्य भोजन में गेहूं, जौ, चावल, दूध और कुछ सब्जियां जैसे मटर, तिल और खजूर जैसे फल शामिल थे। बीफ, मटन, पोर्क, पोल्ट्री, मछली आदि भी सिंधु लोग खाते थे। कृषि सिंधु लोगों का मुख्य व्यवसाय प्रतीत होता है। हड़प्पा में एक अन्न भंडार की खोज इस बात का समर्थन करती है।

हड़प्पावासियों के वस्त्र-Harappan clothing

बड़ी संख्या में तकिये की खोज से यह सिद्ध होता है कि सूती कपड़े सामाजिक वस्त्रों की बुनाई के लिए उपयोग किए जाते हैं। ऊन का भी प्रयोग किया जाता था। हो सकता है कि कपड़े सिल दिए गए हों। स्त्री और पुरुष दोनों ने कपड़े के दो टुकड़ों का इस्तेमाल किया। पुरुषों ने कुछ निचले वस्त्र जैसे धोती और ऊपरी वस्त्र शॉल की तरह पहने थे। ऊपरी वस्त्र ने बाएँ कंधे को लपेटा। महिलाओं की पोशाक पुरुषों की तरह ही थी।

Read more

Share this Post

सिन्धु सभ्यता की नगर योजना/स्थानीय शासन की प्रमुख विशेषताएं

Share this Post

सिंधु सभ्यता की एक विशेष नगर योजना थी। सिंधु सभ्यता के जितने भी स्थल प्राप्त हुए हैं उन सबकी अपनी-अपनी विशेषताएं हैं। हड़प्पा सभ्यता जिसे सिंधु सभ्यता भी कहा जाता है, विश्व की प्राचीनतम सभ्यताओं में से एक है। एक एक शहरी सभ्यता थी जो अपने विशाल भवनों और सड़कों तथा स्थानीय शासन के लिए … Read more

Share this Post