Ameen Sayani Biography in Hindi | अमीन सयानी की जीवनी- जन्म, आयु, करियर, पत्नी, संतान, पुरस्कार और सम्मान, मृत्यु का कारण

Ameen Sayani Biography in Hindi | अमीन सयानी की जीवनी- जन्म, आयु, करियर, पत्नी, संतान, पुरस्कार और सम्मान, मृत्यु का कारण

Share This Post With Friends

Last updated on February 24th, 2024 at 06:38 pm

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
Ameen Sayani Biography in Hindi | अमीन सयानी की जीवनी- जन्म, आयु, करियर, पत्नी, संतान, पुरस्कार और सम्मान, मृत्यु का कारण

Ameen Sayaniअमीन सयानी कौन थे?

अमीन सयानी प्रसिद्ध रेडियो उद्घोषक थे जिनकी आवाज के लोग दीवाने रहे। उनके द्वारा प्रस्तुत प्रसिद्ध कार्यक्रम ‘बिनाका गीतमाला’ को भला कौन भूल सकता है ? जिस ताजगी और जादू भरी आवाज में वे इस कार्यक्रम को प्रस्तुत करते थे वह श्रोताओं को रेडियो से बाँध देते थे। रेडियो सीलोन द्वारा प्रस्तुत यह कार्यक्रम वर्षों तक श्रोताओं के कानों में गूंजता रहा। उनका स्लोगन “भाइयों-और बहनों” के उलट “बहनों और भाइयों” दर्शाता था कि वे महिलाओं को कितना सम्मान देते थे। उनकी यह शैली आज भी रेडियो की सबसे मधुर और प्रभावशाली मानी जाती है।

Also Readरेडियो जॉकी आरजे सायमा की बायोग्राफी | Biography of the most beautiful radio jockey RJ Sayema

20 फरवरी 2024 को ये आवाज हमेशा के लिए खामोश हो गई। विकिपीडिया के मुताबिक 1951 से अब तक उन्होंने 54 हज़ार से अधिक रेडियो रेडियो कार्यक्रमों और 19 हज़ार spots/jingles का निर्माण, प्रस्तुतिकरण या उद्घोषण किया। इस लेख में हम अमीन सयानी के जीवन से जुड़ी जानकारी जैसे उनका जन्म, आयु, पत्नी, संतान मृत्यु का कारण आदि से संबंधित जानकारी आपके लिए लाये हैं।

विवरणजानकारी
नामअमीन सयानी
जन्म तिथि21 दिसम्बर 1932
जन्मस्थानब्रिटिश भारत के बम्बई में
मृत्यु तिथि20 फरवरी 2024
आयु91 वर्ष
पेशारेडियो उद्घोषक
नागरिकताभारतीय

Ameen Sayaniअमीन सायानी का प्रारम्भिक जीवन

अमीन सयानी का जन्म औपनिवेशिक भारत के बम्बई [मुंबई, महाराष्ट्र] में 21 दिसंबर 1932 में हुआ था। 46 वर्षों तक रेडियो सीलोन के माध्यम से और बाद में विविध भारती पर प्रस्तुति देने वाले अमीन सयानी आज भी लोगों जहन में खास स्थान रखते हैं। अमीन सयानी प्रारम्भ से ही बहुत ज़िंदादिल इंसान थे और यह उनकी रेडियो प्रस्तुति में दिखाई देता था।

Also ReadChaudhary Charan Singh biography in hindi |चौधरी चरण सिंह का जीवन परिचय हिंदी में

अमीन सयानी की माता-पिता और परिवार

अमीन सयानी के पिता का नाम स्वर्गीय जान मोहम्मद सयानी था जो पेशे से चिकित्सक थे। उनकी माता का नाम कुलसुम सयानी था और वे एक ग्रहणी के साथ-साथ सामाजिक कार्यकर्त्ता भी थीं। अमिन सयानी के बड़े भाई का नाम हामिद सयानी था जो एक प्रसिद्ध रेडियो जॉकी थे। सयानी के एक पुत्र भी है जिसका नाम Rajil Sayani है।

अमीन सयानी की माता-पिता और परिवार

अमीन सायानी की शिक्षा

अमीन सयानी ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा ग्वालियर के प्रसिद्ध सिंधिया स्कूल से पूरी की। उच्च शिक्षा उन्होंने St. Xavier’s College मुंबई से पूरी की।

संबंधविवरण
वैवाहिक स्थितिविधुर तलाकशुदा
परिवार
पति/पत्नीस्वर्गीय रामा मुत्तू
पितास्वर्गीय जान मोहम्मद सयानी (चिकित्सक)
मातास्वर्गीय लेट कुलसुम सयानी (सामाजिक कार्यकर्ता)
भाईहमिद सयानी (बड़ा भाई) (रेडियो जॉकी)
बहनपता नहीं
बच्चेबेटा – राजिल सयानी
बेटी – कोई नहीं
पसंदीदा
अभिनेताअमिताभ बच्चन
अभिनेत्रीमीना कुमारी
रंगकाला, भूरा
गायककिशोर कुमार, आशा भोसले
व्यक्तिगत जीवनविवरण
राशिधनुष
जन्म तारीखबुधवार, 21 दिसंबर 1932
उम्र89
जन्मस्थानग्वालियर, ब्रिटिश इंडिया
राष्ट्रीयताभारतीय
गृहनगरमुंबई, महाराष्ट्र, भारत
शैक्षिक योग्यतास्नातक
धर्मइस्लाम
भोजन आदतपता नहीं
शौकलेखन, पढ़ना, संगीत सुनना, गायन
शिक्षाविवरण
विद्यालय– सिंदिया स्कूल, ग्वालियर
कॉलेज– सेंट जेवियर्स कॉलेज मुंबई
विशेषणविवरण
ऊंचाई(लगभग)5 फीट 7 इंच
आंखों का रंगहल्का भूरा
बालों का रंगहल्का काला और सफेद
जन्म तिथिबुधवार, 21 दिसंबर 1932
आयु91 वर्ष, मृत्यु के समय

अमीन सायानी का करियर

अमीन सायानी ने अपने करियर का प्रारम्भ आल इंडिया रेडियो से शुरू किया जहाँ उन्होंने 10 वर्ष तक अंग्रेजी भाषा के कार्यक्रम किये। अमीन सयानी के भाई हामिद सयानी ने उन्हें यह नौकरी दिलाने में मदद की थी।

अमीन सयानी की पत्नी और संतान

अमीन सयानी का विवाह रामा मुत्तु के साथ हुआ था। हालांकि आगे जाकर दोनों ने तलाक ले लिया। दंपत्ति के एक संतान है जिसका नाम Rajil Sayani है।

अमीन सयानी की पत्नी और संतान

अमीन सयानी की आयु

जैसा की हम बात चुके हैं अमीन सयानी का जन्म Wednesday, 21 Dec 1932 को हुआ था और उनकी मृत्यु 20 फरवरी 2024 को मुंबई में हुई, मृत्यु के समय उनकी आयु 91 वर्ष थे।

अमीन सयानी की मृत्यु का कारण

अमीन सयानी की मृत्यु की कारण हृदयघात [ heart attack] बताया जा रहा है। मीडिया ख़बरों के मुताबिक हार्ट अटैक के बाद उन्हें तुरंत एच. एन. रिलायंस हॉस्पिटल मुंबई ले जाया गया। दुर्भाग्य से सायानी जी ने रस्ते में ही दम तोड़ दिया। इसी के साथ यह सितारा हमेशा के लिए इस दुनिया को अलविदा कह गया।

Also ReadSarfaraz Khan Biography in Hindi,आयु, परिवार, पत्नी, करियर, नेटवर्थ, और ताजा जानकारी

अमीन सयानी का धर्म

अमीन सयानी इस्लाम धर्म के अनुयायी थे। अपनी शानदार प्रस्तुतियों से वे हर भारतीय के चहेते बन गये।

अमीन सयानी द्वारा उत्पादित और प्रस्तुत रेडियो शोविवरण
सीबाका (पूर्व बिनाका) गीतमाला– 1952 से प्रसारित<br>- मुख्य रूप से रेडियो सीलोन पर, बाद में विविध भारती (एआईआर)<br>- कुल 42 वर्ष के लिए<br>- 2 वर्षों के लिए फिर से नवीनीकरण किया गया था, कोलगेट सीबाका गीतमाला के रूप में
एस. कुमार्स का फिल्मी मुकद्दमा और फिल्मी मुलाकात– 7 वर्षों के लिए एआईआर और विविध भारती पर<br>- एक दशक के बाद विविध भारती पर पुनः प्रारंभ
सरीडॉन के साथी– 4 वर्षों के लिए प्रसारित (एआईआर का पहला स्पॉन्सर किया गया शो)
बॉर्नविटा क्विज कॉन्टेस्ट (अंग्रेजी में)– 1975 में उनके भाई, हामिद सयानी, की मौत के बाद 8 वर्षों तक चला (उनके बाद से हामिद सयानी को ले लिया)
शालीमार सुपरलैक जोड़ी– 7 वर्षों के लिए प्रसारित
मराठा दरबार शो: सितारों की पसंद, चमकते सितारे, महकती बातें, आदि– 14 वर्षों के लिए प्रसारित
संगीत के सितारों की महफिल– 2014 में चालू होने के 4 वर्षों तक चला और अभी भी चल रहा है<br>- शीर्ष गायक, संगीतकार और गीतकारों के आत्मचरित्र और संगीतिक करियर की साक्षात्कार से युक्त
स्वनाश– वास्तविक एचआईवी/एड्स मामलों पर आधारित 13-एपिसोड रेडियो श्रृंगार श्रृंगार – अग्रणी डॉक्टरों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत के साथ<br>- अल इंडिया रेडियो द्वारा आदेशित<br>- इसके ऑडियो कैसेट्स को कई गैर-सरकारी संगठनों ने अपने क्षेत्र-कार्य के लिए प्राप्त किया हैं।

पुरस्कार/सम्मान

वर्षपुरस्कार/सम्मान
1991भारतीय विज्ञापक समाज (ISA) से स्वर्ण पदक
1992लिमका बुक ऑफ रिकॉर्ड्स द्वारा वर्ष का व्यक्ति पुरस्कार
1993भारतीय एडवरटाइजिंग फिल्म कला अकादमी (IAAFA) से हॉल ऑफ फेम पुरस्कार
2000एडवरटाइजिंग क्लब, बॉम्बे द्वारा शताब्दी के उत्कृष्ट रेडियो अभियान के लिए गोल्डन ऐबी
2003रेडियो मिर्ची से कान हॉल ऑफ फेम पुरस्कार
2006भारतीय वाणिज्य और उद्योग संघ (FICCI) से जीवन की महान व्यक्ति पुरस्कार
2007हिंदी भवन, नई दिल्ली से हिंदी रत्न पुरस्कार
2009पद्म श्री पुरस्कार
201619वें हीरा मानेक पुरस्कार में जीवन की उपलब्धि पुरस्कार

Faqs- Frequently Asked Question

1- प्रश्न: अमीन सयानी कौन थे?

उत्तर: अमीन सयानी प्रसिद्ध रेडियो उद्घोषक थे जिनकी आवाज के लोग दीवाने रहे।

2- प्रश्न: अमीन सयानी का जन्म कब हुआ था?

उत्तर: अमीन सयानी का जन्म 21 दिसंबर 1932 को ब्रिटिश भारत के बम्बई में हुआ था।

3- प्रश्न: अमीन सयानी के प्रसिद्ध कार्यक्रम कौन-कौन से थे?

उत्तर: कुछ प्रमुख कार्यक्रम हैं: ‘बिनाका गीतमाला’, ‘बौर्नविटा क्विज कॉन्टेस्ट’, ‘सरिदों के साथी’ और ‘शालिमार सुपरलैक जोड़ी’।

4- प्रश्न: अमीन सयानी की आवाज में क्या खासीयत थी?

उत्तर: उनकी आवाज बहुत ताजगी और जादू भरी थी, जिससे उन्होंने अपने कार्यक्रमों को श्रोताओं के कानों में गूंजा दिया।

5- प्रश्न: अमीन सयानी के पिता का पेशा क्या था?

उत्तर: अमीन सयानी के पिता स्वर्गीय जान मोहम्मद सयानी चिकित्सक थे।

6- प्रश्न: अमीन सयानी के कितने बच्चे थे?

उत्तर: उनका एक पुत्र है, जिसका नाम Rajil Sayani है।

7- प्रश्न: अमीन सयानी की मृत्यु कब हुई?

उत्तर: अमीन सयानी की मृत्यु 20 फरवरी 2024 को हुई।

8- प्रश्न: अमीन सयानी की शिक्षा कहाँ से हुई?

उत्तर: उन्होंने St. Xavier’s College, मुंबई से अपनी उच्च शिक्षा पूरी की।

9प्रश्न: अमीन सयानी का धर्म क्या था?

उत्तर: अमीन सयानी इस्लाम धर्म के अनुयायी थे।

10- प्रश्न: अमीन सयानी की मृत्यु का क्या कारण था?

उत्तर: अमीन सयानी की मृत्यु का कारण हृदयघात था।

Go To Home PageHome Page

Share This Post With Friends

Leave a Comment

Discover more from 𝓗𝓲𝓼𝓽𝓸𝓻𝔂 𝓘𝓷 𝓗𝓲𝓷𝓭𝓲

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading