Democracy - 𝓗𝓲𝓼𝓽𝓸𝓻𝔂 𝓘𝓷 𝓗𝓲𝓷𝓭𝓲

लोकतंत्र क्या है?: अर्थ, परिभाषा, प्रकार और भारत में लोकतंत्र की चुनौतियाँ | What is Democracy in Hindi

संसार में अनेक प्रकार की शासन प्रणालियाँ प्रचलित हैं। सर्वाधिक लोकप्रिय व्यवस्था की बात करें तो लोकतान्त्रिक व्यवस्था की स्वीकृति सर्वमान्य है। भारत में लोकतंत्र आजादी के बाद आया, लेकिन ऐसा नहीं है कि लोकतंत्र भारत के लिए कुछ नया था। बुद्धकालीन भारत में ऐसे गणराज्य भी थे जहां राजा वंशानुगत न होकर प्रजा की सहमति से चुने जाते थे। मध्यकाल में बंगाल के पाल वंश की स्थापना लोगों की सहमति से हुई थी। आज इस ब्लॉग में आप जान सकेंगे What is Democracy-‘लोकतंत्र क्या है, लोकतंत्र की परिभाषा, अर्थ और लोकतंत्र के प्रकार। इसके साथ ही लोकतंत्र के सामने क्या चुनौतियां हैं? जैसे मुद्दों पर चर्चा होगी। लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

लोकतंत्र क्या है?: अर्थ, परिभाषा, प्रकार और भारत में लोकतंत्र की चुनौतियाँ | What is Democracy in Hindi

What is Democracy in Hindi | डैमोक्रैसी क्या होती है?

लोकतंत्र शब्द बोलने में भले ही सामान्य लगे, लेकिन इसका अर्थ भी उतना ही महत्वपूर्ण और जटिल है। लोकतंत्र डेमोक्रेटिक है जिसमें ग्रीक भाषा डेमोस + क्रेटिया शामिल है। जिसका अर्थ है जनता और शासन, सरल अर्थ में जनता का शासन।

लोकतंत्र की परिभाषा के अनुसार यह “जनता का, जनता के लिए, जनता द्वारा शासन” है (अब्राहम लिंकन)। अर्थात् लोकतंत्र शासन की एक ऐसी व्यवस्था है, जिसके अन्तर्गत जनता अपनी सहमति से चुनाव में किसी भी दल के स्वतंत्र प्रतिनिधि को अपना मत (वोट) देकर अपना प्रतिनिधि चुन सकती है और लोकतांत्रिक सरकार बना सकती है। इस ब्लॉग के माध्यम से विस्तार से जानिए लोकतंत्र क्या है?

लोकतंत्र के विभिन्न पहलू

यूनानी दार्शनिक अरस्तू ने लोकतंत्र को शासन की एक विकृत प्रणाली के रूप में वर्णित किया, जिसमें गरीब वर्ग का बहुमत अपने वर्ग के लाभ के लिए सत्ता में आता है और भीड़तंत्र में बदल जाता है, और इसी समय अरस्तू के लोकतंत्र को राजनीति के रूप में जाना जाता है।

देश, काल और परिस्थितियों में भिन्न-भिन्न अवधारणाओं के प्रयोग के कारण लोकतंत्र की अवधारणा कुछ जटिल हो गई है। लोकतंत्र के सन्दर्भ में प्राचीन काल से ही कई प्रस्ताव आये हैं, लेकिन इनमें से कई कभी लागू नहीं किये जा सके हैं। लोकतंत्र न केवल राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक व्यवस्था का प्रकार है, बल्कि जीवन के प्रति एक विशेष दृष्टिकोण में इसका नाम भी है। लोकतंत्र में सभी लोगों को एक-दूसरे के प्रति वैसा ही व्यवहार करना चाहिए जैसा वे अपने प्रिय लोगों के साथ करते हैं।

डेमोक्रेसी शब्द दो ग्रीक शब्दों ‘डेमास’ और ‘क्रेटोस’ से मिलकर बना है। इस प्रकार ‘देमास’ का अर्थ है ‘लोग’ और ‘क्रेटोस’ का अर्थ है ‘शक्ति’ या शासन। इस प्रकार ‘लोकतंत्र’ का अर्थ है- ‘जनता की शक्ति’ या ‘जनता का शासन’। अतः लोकतन्त्र शासन की ऐसी व्यवस्था है जिसमें शासन की शक्तियाँ राजतंत्र और अभिजात वर्ग के स्थान पर या एक व्यक्ति या कुछ व्यक्तियों के हाथ में न होकर आम जनता में निहित होती हैं।

Also Readप्राकृतिक अधिकार क्या हैं? | What are natural rights?

Read more