आलोक मौर्य और ज्योति मौर्य (SDM) की कहानी: स्वीपर पति ने पढ़ा-लिखाकर बनाया पीसीएस अधिकारी, विश्वासघात का खुलासा

आलोक मौर्य और ज्योति मौर्य (SDM) की कहानी: स्वीपर पति ने पढ़ा-लिखाकर बनाया पीसीएस अधिकारी, विश्वासघात का खुलासा

Share This Post With Friends

वास्तविक जीवन की यह कहानी बॉलीवुड की फिल्म “सूर्यवंशम” की याद दिलाती है, जहां एक अनपढ़ आदमी अपनी पत्नी को पढ़ाता है और पत्नी को आईएएस अधिकारी बनने के सपने को पूरा करने में मदद करता है, ऐसी ही एक कहानी एक मोड़ के साथ सामने आती है। बरेली में प्रांतीय सिविल सेवा (पीसीएस) अधिकारी ज्योति मौर्य के पति आलोक मौर्य ने अपनी पत्नी को शिक्षित करने और उप-विभागीय मजिस्ट्रेट (एसडीएम) बनने की उनकी यात्रा में जी जान से सहायता करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। हालाँकि, इस पद को प्राप्त करने के बाद, ज्योति की अवैध संबंध में संलिप्तता सामने आई, जिससे कई चौंकाने वाले खुलासे और आरोप लगे, जिनमें भ्रष्टाचार के आरोप भी शामिल थे।

आलोक मौर्य और ज्योति मौर्य (SDM) की कहानी: स्वीपर पति ने पढ़ा-लिखाकर बनाया पीसीएस अधिकारी, विश्वासघात का खुलासा
Image Credit-https://zeenews.india.com

आलोक मौर्य और ज्योति मौर्य-मामले का विवरण


आलोक मौर्य का खुलासा

आलोक मौर्य ने मीडिया को एक डायरी सौंपी, जिसमें उन्होंने अपनी पत्नी ज्योति मौर्य पर भ्रष्टाचार को लेकर चौंकाने वाले आरोप लगाए हैं. डायरी में उसकी अवैध गतिविधियों का विस्तृत रिकॉर्ड है, जिसमें अनौपचारिक तरीकों से प्रति माह लगभग 6 लाख रुपये की वसूली भी शामिल है। मामले की फिलहाल जांच चल रही है, क्योंकि भ्रष्टाचार के आरोपों ने काफी ध्यान आकर्षित किया है।

आलोक और ज्योति मौर्य की पृष्ठभूमि

शुरुआत में पंचायत राज विभाग में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी रहे आलोक मौर्य को 2009 में इस पद के लिए चुना गया था। 2010 में उन्होंने ज्योति से शादी की। आलोक ने ज्योति को शिक्षित करने का बीड़ा उठाया, जिन्होंने लोक सेवा आयोग की परीक्षा में महिलाओं के बीच तीसरा स्थान हासिल किया और अंततः कुल मिलाकर 16वें स्थान पर रहीं। ज्योति का पीसीएस अधिकारी के रूप में चयन 2015 में उनकी जुड़वां बेटियों के जन्म के साथ हुआ।

ज्योति के अफेयर की शुरुआत

पीसीएस मामले के विवरण से पता चलता है कि 2020 में, ज्योति ने गाजियाबाद में तैनात जिला कमांडेंट होम गार्ड के साथ बातचीत शुरू कर दी, जिससे अवैध संबंध बन गए। दोनों के बीच संबंध उनके कर्तव्यों के दौरान विकसित हुए। हालाँकि, 2022 में, आलोक को ज्योति के फेसबुक अकाउंट पर ज्योति और होम गार्ड कमांडेंट के बीच अश्लील बातचीत का पता चला। आलोक ने ज्योति से विरोध दर्ज किया, जिसके परिणामस्वरूप बहस हुई और ज्योति ने जान से मारने और कारावास की धमकी दी।

Read the Latest News About Jyoti Maurya-वायरल वीडियो: एसडीएम ज्योति मौर्य, पति आलोक मौर्य को गली दे रही है : आलोक मौर्य, ज्योति मौर्य (SDM) भ्रष्टाचार मामले में मुख्य व्यक्ति- नवीनतम अपडेट

रेड-हैंडेड होटल में पकडे गए

22 दिसंबर 2022 को आलोक ने ज्योति और होम गार्ड कमांडेंट को लखनऊ के एक होटल में रंगे हाथ पकड़ लिया. अपनी जान के डर से आलोक मौके से भाग गया। इसके अलावा, आलोक का दावा है कि उसे या तो स्वैच्छिक तलाक स्वीकार करने या संभावित हत्या सहित गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी मिली थी। ज्योति ने इसका बदला लेते हुए आलोक के खिलाफ धूमनगंज थाने में दहेज का झूठा मामला दर्ज करा दिया, यहां तक कि उस पर धारा 376 (बलात्कार) का झूठा आरोप लगाने की धमकी भी दी।

आलोक मौर्य और ज्योति मौर्य (SDM) की कहानी: स्वीपर पति ने पढ़ा-लिखाकर बनाया पीसीएस अधिकारी, विश्वासघात का खुलासा

शिकायतें और आरोप

आलोक ने ज्योति पर गाजियाबाद के होम गार्ड कमांडेंट के साथ संबंध होने का आरोप लगाते हुए होम गार्ड मुख्यालय में औपचारिक शिकायत दर्ज कराई। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि ये दोनों उन्हें नुकसान पहुंचाने की साजिश रच रहे हैं. आलोक ने कई व्हाट्सएप चैट और एक कॉल रिकॉर्डिंग प्रस्तुत की जिसमें ज्योति को जान से मारने की धमकी देते हुए सुना जा सकता है।

ज्योति की प्रतिक्रिया और प्रतिदावे

आरोपों के जवाब में, ज्योति मौर्य (पीसीएस केस विवरण) ने दावा किया कि आलोक ने उनकी शादी से पहले अपने पेशे को गलत तरीके से प्रस्तुत किया था, यह कहते हुए कि वह एक ग्राम पंचायत अधिकारी थे, जबकि वास्तव में, वह एक सफाई कर्मचारी थे। इस रहस्योद्घाटन के आधार पर ज्योति ने आलोक को तलाक देने की योजना बनाई। उन्होंने आलोक पर उनका व्हाट्सएप अकाउंट हैक करने और चैट वायरल करने का भी आरोप लगाया। ज्योति ने यह भी दावा किया कि आलोक उससे 50 लाख रुपये और एक घर की मांग कर रहा है।

Read Alsoअजित पवार की जीवनी: प्रारंभिक जीवन, आयु, शिक्षा, जाति, राजनीतिक करियर, परिवार, पत्नी, बच्चे और नवीनतम गतिविधियाँ

चल रही जांच

आरोपों और प्रतिदावों के पीछे की सच्चाई का पता लगाने के लिए मामले की अभी उच्च सत्र स्तर पर जांच चल रही है। अधिकारी आलोक और ज्योति दोनों द्वारा प्रस्तुत व्हाट्सएप चैट और कॉल रिकॉर्डिंग सहित सबूतों की जांच कर रहे हैं।

जांच का उद्देश्य ज्योति के कथित भ्रष्टाचार की सीमा को उजागर करना और यह निर्धारित करना है कि अवैध धन इकट्ठा करने में उसकी संलिप्तता के आलोक के दावों में कोई सच्चाई है या नहीं। इसके अतिरिक्त, अधिकारी आलोक के खिलाफ ज्योति के आरोपों की वैधता का आकलन करेंगे, जिसमें बड़ी रकम और एक घर की उसकी कथित मांग भी शामिल है।

जैसे-जैसे मामला सामने आया, इसमें शामिल दोनों व्यक्तियों की प्रमुखता के कारण यह सार्वजनिक चर्चा का विषय बन गया है। विश्वासघात, भ्रष्टाचार और धमकियों के चौंकाने वाले खुलासों ने मीडिया और स्थानीय समुदाय का ध्यान खींचा है।

आलोक मौर्य और ज्योति मौर्य (SDM) की कहानी: स्वीपर पति ने पढ़ा-लिखाकर बनाया पीसीएस अधिकारी, विश्वासघात का खुलासा

यह देखा जाना बाकी है कि जांच कैसे आगे बढ़ेगी और आरोपों से क्या कानूनी परिणाम सामने आएंगे। आरोपों और प्रतिदावों के पीछे की सच्चाई अंततः आलोक और ज्योति दोनों के लिए कार्रवाई की दिशा और संभावित कानूनी नतीजों का निर्धारण करेगी।

आलोक मौर्य और ज्योति मौर्य की कहानी एक सबक के रूप में कार्य करती है कि वास्तविक जीवन में भी, आकांक्षा और समर्थन की कहानियां अप्रत्याशित मोड़ ले सकती हैं। व्यक्तिगत पसंद और कार्यों के प्रभाव के दूरगामी परिणाम हो सकते हैं, जो न केवल व्यक्तियों को बल्कि उनके परिवारों, रिश्तों और पेशेवर प्रतिष्ठा को भी प्रभावित करते हैं।

Also Readदुनिया की शीर्ष 10 अभिनेत्रियों की नेट वर्थ। नंबर 3 आपको चौंका सकता है | Net worth of top 10 actresses in the world

सोशल मीडिया पर हो रही है तीखी प्रतिक्रिया

जब से अलोक मौर्य और ज्योति मौर्य प्रकरण सामने आया है तब से सशल मीडिया- व्हाट्सप्प, ट्विटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक जैसे प्लेटफार्म पर लोग जयोति मौर्य के प्रति अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं और ज्योति मौर्य को उसके पद से हटाने की मांग कर रहे हैं। लोग इसे बेबफाई का नाम दे रहे हैं। जहाँ अलोक मौर्य के प्रति सहानभूति प्रकट कर रहें तो ज्योति के प्रति गुस्सा। लोग तरह तरह के मीम बनाकर इस प्रकरण में प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

इस प्रकरण में आपकी क्या प्रतिक्रिया है कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं, साथ ही इस पोस्ट को अपने मित्रों के साथ भी साझा करें-आपका सहयोग अपेक्षित है।

Sources: Online Media Sources

You May Read Also


Share This Post With Friends

9 thoughts on “आलोक मौर्य और ज्योति मौर्य (SDM) की कहानी: स्वीपर पति ने पढ़ा-लिखाकर बनाया पीसीएस अधिकारी, विश्वासघात का खुलासा”

  1. शादी-ब्याह होने के बाद पत्नी को नही पढाना चाहिए, ऐसा करने से पती पत्नी का सांसारिक जीवन खराब होता है ऐसे बहुत से किस्से है जहां पति का जीवन बर्बाद होगया है मेरे रिश्तेदारो मे ही बहुत है

    Reply
  2. इससे यह जाहिर होता है कि कोई भी पति अपनी पत्नी को नहीं पढ़ाएगा जो कि धोकेबाज बन जाए में तो इसको देखकर यही कहूंगा बेटी पढ़ाओ लेकिन बीबी न पढ़ाए और जो ज्योति मौर्य है इनके लिए जितने शब्द कहे जाए उतने कम ही है इनको तो सरम आनी चाहिए थी की हमारी दो बेटियों पर क्या असर क्या पड़ेगा और बेटियों के बारे मे अंगे चलकर क्या लोग क्या बोलेंगे धोखेबाज एसडीएम मां कि धोखेबाज बेटियां है (घर का मामला घर में सुलझाना चहिए न की सोशल मीडिया पर )

    Reply
  3. विश्वासघात से बङा कोई पाप नहीं, बेवफा ज्योति ने आलोक मोर्या के साथ विश्वासघात किया है , उसका सामाजिक बहिष्कार होना चाहिए , दुसरी बात वो अपनी बेटियो को भी बाप से दूर करने का पाप कर रही है, समाज और सरकार आलोक मोर्या की मदद करें

    Reply
  4. Srvprtm pure mamle ki janch karni chahiye ki khi ye afwaha hi to nhi hai kisi ka daman kharab karne ke liye ye keechad uchala gya ho kyoki social media par log moj karne ke liye aate hai nyaye nhi unko jaisi khabar mili ve usi ke anusar reaction de rhe hai ,,,,
    Agar ye mamla shi hai to fir Alok Maurya ke sath nyaye milna chahiye kya karege aisi halat me us bechare ko koi shara bhi nhi dega ,,,,
    Agar Jyoti ne glt kiya hai to use saja milni chahiye kyoki us bechare ne kaise kaise mehnat karke padaya hoga khud neeche rhkr use itne unche mukam Tak phuchaya ,,,*
    Mile Aisa pati ,,,
    To use khuda ki barkat samjhani chahiye,,,,,
    Na ki use talak magkar aisi harkat karni chahiye,,,,,,
    Bhagwan us ladke ko nyaye mile vrna logo ka bharosa mit jayega aurto ko padane se ……………..

    Reply
  5. मेरा तो यही कहना है भाई की इस लड़की को नोकरी से बर्खास्त कर दोनो का तलाक करवा देना उचित होगा । क्योंकि आलोक मौर्या ने कुछ गलत नहीं किया था उसको पड़ा लिखा के।

    Reply
  6. ज्योति मौर्य ने आलोक मौर्य के साथ विश्वास घात किया है आलोक के आँसू सच कह रहे है सरकार और आलोक को न्याय दिलाना चाहिए l

    Reply
  7. Mai bhi meri bibi ko padane aur sarkari naukri karane ke bare me soch raha tha lekin ab aysa kuchh nahi karunga.
    Jyoti maurya ne jo kiya use sun ke ab mera erada badal gaya 12th karaya, computer corse karaya lekin ab band.
    Mujhe alok ke jaise nahi hona hai.

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!

Discover more from History in Hindi

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading