| |

अडानी कैसे बन गया अचानक धनकुबेर? 5.10 अरब डॉलर थी अडानी की नेटवर्थ 2014 में

अडानी कैसे बन गया अचानक धनकुबेर? 5.10 अरब डॉलर थी अडानी की नेटवर्थ 2014 मेंगौतम अडानी नेटवर्थ 2022: ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के अनुसार गौतम अडानी की संपत्ति में इस वर्ष 60.9 अरब डॉलर का इज़ाफ़ा हुआ है। अगर हम मोदी सरकार के आने से पहले यानि 2014 की बात करें तो गौतम अडानी की कुल संपत्ति 30 मार्च 2014 को 5.10 अरब डॉलर थी।

अडानी कैसे बन गया अचानक धनकुबेर? 5.10 अरब डॉलर थी अडानी की नेटवर्थ 2014 में
IMAGE CREDIT-www.aajtak.in

अडानी कैसे बन गया अचानक धनकुबेर? 5.10 अरब डॉलर थी अडानी की नेटवर्थ 2014 में

ताजा आंकड़ों के अनुसार गौतम अडानी अब भारत के ही नहीं बल्कि एशिया के भी सबसे धनि व्यक्ति बन गए हैं। कामयाबी की नै ऊंचाइयों को छूते हुए भारतीय उद्योगपति ने दुनिया के तीसरे सबसे धनि व्यवसायी हो गए हैं। अगर वर्तमान में उनकी सम्पत्ति की बात करें तो यह 137 अरब डॉलर हो गई है। अपने ताजा आंकड़ों में ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स ने उनकी कुल सम्पत्ति में इस वर्ष 60.9 अरब डॉलर का उछाल बताया है।

मोदी सरकार के सत्ता में आने से पहले नेटवर्थ थी केवल 5.10 अरब डॉलर

ब्लूमबर्ग इंडेक्स के मुताबिक 30 मार्च 2014 को अडानी की कुल सम्पत्ति 5.10 अरब डॉलर थी, जो 16 जनवरी 2020 में 11 अरब डॉलर पहुंची और जून 2020 के बाद अडानी की सम्पत्ति में जबर्दस्त उछाल शुरू हुआ।

9 जून 2021 तक आते-आते अडानी की सम्पत्ति में 7 गुना का उछाल दर्ज किया गया और यह 76.7 अरब डॉलर पहुँच गई। इसके बाद की कहानी तो किस स्वप्न से काम नहीं, और अडानी की दौलत ऐसे बढ़ने लगी जैसे पैसों का पेड़ लगा हो। 29 अप्रैल 2022 को उन्होंने 122 अरब डॉलर के मुकाम को छू लिया और अब यह 137 अरब डॉलर पर पहुँच गया है।

अचानक इतनी सम्पत्ति कैसे आई

अब आपको बताते हैं कि अडानी के पास के अचानक इतनी सम्पत्ति कहाँ से और कैसे आई? इसका सीधा सरल जवाब है शेयर बाजार में आये उछाल के कारण गौतम अडानी की सम्पत्ति को भी पंख लग गए। आपको बता दें कि गौतम अडानी ने अपना कारोबार 1988 में शुरू किया था। वर्तमान में अडानी ग्रुप की 7 कंपनियां शेयर बाज़ार सूचीबद्ध हैं।

अडानी का पोर्ट निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा पोर्ट है। 6 एयरपोर्ट उन्होंने सरकार से खरीदे हैं। आपको बता दें मुंबई एयरपोर्ट अडानी का है। इसके साथ ही अडानी बिजली उत्पादन से भी जुड़े हैं और निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बिजली उत्पादनकर्ता हैं। कोयले के खनन का सबसे बड़ा ठेका अडानी के पास है।

भारत में सीमेंट उत्पादन में सबसे बड़ा हिस्सा अडानी का है। साथ की खाद्य पदार्थों में फार्च्यून ब्रांड एक जाना पहचाना नाम है और इसके प्रमुख उत्पादों में तेल, आटा, चावल, बेसन, सोयाबीन जैसे उत्पाद प्रमुख हैं। अडानी की कंपनियों के शेयर राकेट की गति से उछल रहे हैं। इनका मार्किट कैप 19 लाख करोड़ रूपये है। इन्हीं कंपनियों में शेयर होने के कारण अडानी की सम्पत्ति में उछाल आया है।

अगर हम इस वर्ष उनकी कंपनियों के प्रदर्शन की बात करें तो, अडानी पावर में शानदार उछाल देखा गया जो 292 फीसदी है। इसके साथ ही अडानी इंटरप्राइजेज में 294 फीसदी का उछाल दर्ज किया गया है। अडानी पोर्ट ने 180 तो अडानी ग्रीन ने 80 फीसदी का लाभांश दिया है। अवधि में अडानी विल्मर में 158 फीसदी का उछाल दर्ज किया गया। यही नहीं अडानी ग्रुप की अन्य कंपनियों, अडानी टोटल गैस ने 109 फीसदी और अडानी ट्रांसमिशन ने 127 फीसदी का उछाल देखा गया।

घट रही है मुकेश अम्बानी की संपत्ति

अगर हम ब्लूमबर्ग मिलेनियर इंडेक्स के बात करें तो पहले नंबर पर Elon Musk की नेटवर्थ $251 है जबकि उनकी नेटवर्थ में -$2.29B -$18.9B तक की कमी दर्ज की गई। दूसरे नंबर पर Jeff Bezos की नेटवर्थ $153B है इस दौरान उनकी सम्पति में -$981M , -$39.0B की कमी दर्ज की गई।

अब बात करें मुकेश अम्बानी की तो उनकी सम्पत्ति Mukesh Ambani की नेटवर्थ $91.9B है और वे 11वें स्थान पर हैं , इस दौरान पहले उन्हें -$836M का घटा हुआ और बाद में +$1.96B का इजाफा दर्ज किया। Bloomberg Billionaires Index में 15 भारतीय उद्योगपतियों ने जगह पाई है। कुल मिलाकर इन 15 उद्योगपतियों की सम्पत्ति $413.93 अरब डॉलर है। जबकि भारत की कुल अर्थव्यवस्था की नेटवर्थ 11,745.3 अरब डॉलर है।

CHECK-The Bloomberg Billionaires Index

ALSO READ

बाबरी मस्जिद की समयरेखा-निर्माण से लेकर विध्वंस तक

राहुल गांधी जीवनी: जन्म, प्रारंभिक जीवन, परिवार, शिक्षा, राजनीतिक यात्रा और ताजा विवाद

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.