शी जिनपिंग: क्या चीनी राष्ट्रपति बीजिंग में नजरबंद हैं? सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- अफवाहों पर लगाम लगाने की जरूरत

शी जिनपिंग: क्या चीनी राष्ट्रपति बीजिंग में नजरबंद हैं? सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- अफवाहों पर लगाम लगाने की जरूरत

Share This Post With Friends

शी जिनपिंग: क्या चीनी राष्ट्रपति बीजिंग में नजरबंद हैं? सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- अफवाहों पर लगाम लगाने की जरूरत-सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाई जा रही है कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को नजरबंद कर दिया गया है। इस बात को लेकर बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने भी ट्वीट किया है.

शी जिनपिंग: क्या चीनी राष्ट्रपति बीजिंग में नजरबंद हैं? सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- अफवाहों पर लगाम लगाने की जरूरत
image-social media

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग घर में नजरबंद हैं। वहीं बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यम स्वामी ने इसे लेकर ट्वीट कर सनसनी मचा दी है. उन्होंने ट्वीट किया कि सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाह की जांच होनी चाहिए। क्या शी जिनपिंग बीजिंग में नजरबंद हैं?

कहा जाता है कि जब शी हाल ही में समरकंद में थे तो चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के नेताओं ने उन्हें सेना प्रमुख के पद से हटा दिया था। फिर उन्हें घर में नजरबंद कर दिया गया। सोशल मीडिया पर ऐसी अफवाह है, जिसकी जांच होनी चाहिए।

जिनपिंग की नजरबंदी के दावों के संबंध में चीन के विदेश मंत्रालय या चीन की कम्युनिस्ट पार्टी या उसके राज्य मीडिया की ओर से कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। ट्विटर पर हजारों यूजर्स #XIJinping हैशटैग के साथ उनकी नजरबंदी के बारे में ट्वीट कर रहे हैं। कई चीनी ट्विटर हैंडल भी इसे ट्वीट कर रहे हैं।

आपको बता दें कि यह दावा ठीक ऐसे समय में किया जा रहा है जब हाल ही में आई एक रिपोर्ट में बताया गया था कि चीन की एक अदालत ने एक पूर्व शीर्ष सुरक्षा अधिकारी को उम्रकैद की सजा सुनाई है। कम्युनिस्ट पार्टी में बड़े फेरबदल से कुछ हफ्ते पहले अधिकारी ने शी जिनपिंग के खिलाफ एक राजनीतिक समूह बनाने की कोशिश की। इसके जवाब में यह कार्रवाई की गई है।

sources} online media reports, amar ujala


Share This Post With Friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!

Discover more from History in Hindi

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading