राहुल द्रविड़ की जीवनी: जानिए उम्र, पत्नी, कुल संपत्ति, करियर, बेटा | Rahul Dravid Biography in Hindi

राहुल द्रविड़ की जीवनी: जानिए उम्र, पत्नी, कुल संपत्ति, करियर, बेटा | Rahul Dravid Biography in Hindi

Share This Post With Friends

अपने समय के दिग्गज बल्लेबाज और भारतीय क्रिकेट की दीवार के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ को BCCI यानि भारतीय क्रिकेट कण्ट्रोल बोर्ड ने भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम का नया मुख्य कोच नियुक्त किया है। राहुल द्रविड़ जो अब तक राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के प्रमुख के रूप में कार्यरत थे, और अब उन्हें  भारत में 2023 के 50 ओवर के एक दिवसीय क्रिकेट विश्व कप तक के लिए भारतीय क्रिकेट टीम का नया कोच नियुक्त किया है कुल मिलाकर उनका कार्यकाल दो वर्ष का होगा।   

राहुल द्रविड़ की जीवनी हिंदी में: जानिए उम्र, पत्नी, कुल संपत्ति, करियर, बेटा |  Rahul Dravid Biography in Hindi
स्रोत – हिंदुस्तान.कॉम

राहुल द्रविड़ की जीवनी

पूर्व कप्तान और महान क्रिकेटर राहुल द्रविड़ को बुधवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) द्वारा भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया, राहुल द्रविड़ की सहमति के बाद bcci  ने उन्हें नया कोच नियुक्त किया। हर भारतीय क्रिकेट प्रेमी को भी उम्मीद है कि द्रविड़ अपने शानदार अनुभव से भारत की टीम को मजबूती देंगें।

47 वर्षीय द्रविड़  बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह की पहली पसंद थे। राहुल द्रविड़ को दुबई बुलाकर कोच पद के लिए आवेदन करने का आग्रह किया गया। राहुल द्रविड़ की सहमति और आवेदन के बाद किसी और लिए कोई गुंजाइस ही नहीं थी।

  राहुल द्रविड़  न्यूजीलैंड के साथ होने वाली वर्तमान घरेलू श्रृंखला से अपना पदभार  संभालेंगे,

चूँकि मौजूदा कोच रविशास्त्री का कार्यकाल मौजूदा आईसीसी टी20 विश्व कप के बाद समाप्त हो रहा है। बीसीसीआई ने मौजूदा रवि शास्त्री के उत्तराधिकारी की नियुक्ति के लिए 26 अक्टूबर को उक्त पद के लिए आवेदन आमंत्रित किए थे, जिनका कार्यकाल । द्रविड़ ने कहा, “भारतीय क्रिकेट टीम के नए मुख्य कोच के रूप में नियुक्त होना एक परम सम्मान की बात है और मैं वास्तव में इस भूमिका का इंतजार कर रहा हूं।”

rahul dravid replace ravi shashtri
स्रोत हिंदुस्तान.कॉम

राहुल द्रविड़ का जीवन परिचय

राहुल द्रविड़ का जन्म 11जनबरी 1973 को इन्दौर मध्य प्रदेश में हुआ था। उनके पिता का नाम शरद द्रविड़ है जो एक जैम बनाने वाली कंपनी में  काम करते थे।  उनकी माता जी का नाम पुष्प द्रविड़ है जो UVCE, बैंगलोर में आर्किटेक्चर के प्रोफेसर हैं। राहुल द्रविड़ के छोटे भाई का नाम विजय द्रविड़ है।

राहु द्रविड़ की शादी और पत्नी तथा बच्चे 

राहुल द्रविड़ की शादी डॉ विजेता पेंढारकरसे हुयी जो एक सर्जन है।इन दोनों की दो संतान हैं जो पुत्र हैं और उनके नाम समित द्रविड़ और अन्वय द्रविड़ है।

राहुल द्रविड़ के प्रसिद्ध उपनाम 

 राहुल द्रविड़ को : राहुल शरद द्रविड़, द ग्रेट वॉल, द वॉल, जेमी, मिस्टर डिपेंडेबल आदि नाम से सम्बोधित किया जाता है।

राहुल द्रविड़ का बचपन और करियर

 राहुल द्रविड़ भारत एक जाने माने क्रिकेटर हैं। उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में टीम के लिए सौ फीसदी योगदान दिया है यहाँ तक कि टीम में एक अतिरिक्त बल्लेबाज की जगह बनाने के लिए विकेट कीपर के रूप में बहुत से मैचों में टीम की सहायता की। यही बजह  है की वह अब तक के सबसे महान क्रिकेटरों में से एक हैं। वह हमेशा विवादों से दूर रहे हैं और खेल में उनके शांत स्वभाव के लिए उन्हें व्यापक रूप से ‘द वॉल’ के रूप में पहचाना जाता है।

द्रविड़ ने 12 साल की उम्र में बल्ला थामा था। राहुल द्रविड़ ने सेंट जोसेफ बॉयज हाई स्कूल में पढ़ाई की और सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ कॉमर्स से वाणिज्य में स्नातक की डिग्री प्राप्त  की। उन्होंने सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में एमबीए की पढ़ाई की, जिसके दौरान उन्हें भारतीय राष्ट्रीय क्रिकेट टीम का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया। उन्होंने कर्णाटक की ओर से अंडर -15, अंडर -17 और अंडर -19 स्तरों  पर राज्य टीम का प्रतिनिधित्व किया। 

1991 उन्होंने रणजी ट्रॉफी में पदार्पण किया जहां महाराष्ट्र टीम के खिलाफ यह मुकाबला हुआ था। रणजी ट्रॉफी में शानदार खेल का परिणाम यह हुआ कि उन्हें दलीप ट्रॉफी में दक्षिण क्षेत्र क्रिकेट टीम में स्थान मिल गया।

राहुल द्रविड़ का अंतर्राष्ट्रीय करियर का प्रारम्भ

घरेलू स्तर पर निरंतर अच्छा प्रदर्शन कर रहे द्रविड़ को एकदिवसीय टीम में स्थान काफी देर से मिला। 

 द्रविड़ ने अपना पहला एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच 1996 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था। एकदिवसीय मैचों में द्रविड़ का प्रदर्शन बहुत प्रभावशाली नहीं रहा।

द्रविड़ ने जून 1996 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया। उन्होंने 7वें स्थान पर खेलते हुए महत्वपूर्ण साझेदारियां बनाईं और छह घंटे से अधिक समय तक बल्लेबाजी करने के बाद महत्वपूर्ण  95 रन की पारी खेली । अपनी  इस  पहली टेस्ट मैच श्रृंखला में, उन्होंने दो मैचों में 62.22 के औसत के से उशानदार खेल का प्रदर्शन किया। 

राहुल द्रविड़ ने अपना  पहला टेस्ट शतक दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध बनाया जहां भारत की जीत लगभग हो गई थी। इसी मैच में उन्हें अपना पहला मैन ऑफ द मैच पुरस्कार भी मिला। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अपना शानदार फॉर्म जारी रखा और टीम की सफलता में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन के बाबजूद द्रविड़ को एकदिवसीय क्रिकेट में संघर्ष करना पड़ा और वे लम्बी परियां खेलना में नाकाम रहे। लेकिन उन्हें जल्द ही सफलता मिली और 1997 में पेप्सी इंडिपेंडेंस कप में पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला एकदिवसीय शतक बनाया ।

1998-99 सीज़न में, द्रविड़ ने अपनी शैली में बदलाब किया और ODI में भी सफलता का स्वाद चखा। उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने शतक के लिए वनडे में अपना पहला मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार जीता। इसके अलावा, अपने पहले विश्व कप अभियान में 65.85 की औसत के साथ 461 रन बनाकर टूर्नामेंट में शीर्ष स्कोरर के रूप में उभरे। 

टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने टीम की जीत में मदद करने के लिए दो अलग-अलग मौकों पर सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली के साथ रिकॉर्ड साझेदारी की। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वीवीएस लक्ष्मण के साथ उनकी 375 रन की साझेदारी ने पहली पारी में फॉलो-ऑन का सामना करने के बाद भारत के लिए ऐतिहासिक जीत दर्ज की।

सम्मान और पुरस्कार

पुरस्कार का नाम
पुरस्कार श्रेणी
वर्ष      प्राप्ति क्षेत्र
अर्जुन पुरस्कार
राष्ट्रीय खेल पुरस्कार
1998
क्रिकेट
पद्म श्री
नागरिक पुरस्कार
2004
खेल
पद्म भूषण
नागरिक पुरस्कार
2013   खेल


शारीरिक माप

छाती का आकार 
41
बाइसेप्स साइज 
13
कमर का आकार 
34
त्वचा का रंग  
गेहुँआ
आंखों का रंग 
काला
बालों का रंग 
काला


व्यक्तिगत जानकारी

होम टाउन
 बेंगलुरु
राष्ट्रीयता
 भारतीय
धर्म  
हिन्दू (ब्राह्मण )
पता 
बेंगलुरु, कर्नाटक, भारत
स्कूल  
सेंट जोसेफ बॉयज हाई स्कूल, बेंगलुरु
कॉलेज
सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ कॉमर्स, बेंगलुरु
सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन, बेंगलुरु
योग्यता बी कॉम (वाणिज्य स्नातक), एमबीए (ड्रॉपआउट)
शौक हॉकी खेलने, संगीत पढ़ने और सुनने
वैवाहिक स्थिति: 
विवाहित

                  
    

डेब्यू टेस्ट –
बनाम इंग्लैंड लॉर्ड्स में – 20-06-1996
ओडीआई –
बनाम श्रीलंका पदांग में – 03-04-1996
टी20 –
बनाम इंग्लैंड ओल्ड ट्रैफर्ड में – 31-08-2011
बेस्ट फ्रेंड्स
सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली
कुल संपत्ति  
$16 मिलियन
आधिकारिक वेबसाइट
http://rahuldravid.com
कार संग्रह
पोर्श 911, हुंडई टस्कन और मर्सिडीज बेंज


                

पसंदीदा रंग
नीला
पसंदीदा खिलाड़ी 
सचिन तेंदुलकर
पसंदीदा खेल
क्रिकेट
पसंदीदा अभिनेत्री 
मिशेल फ़िफ़र, डेमी मूर
पसंदीदा अभिनेता
आमिर खान, टॉम क्रूज
पसंदीदा मूवी
ब्रेवहार्ट (1995)
पसंदीदा खाना
चिकन टिक्का मसाला और दाल-चावल

 

राहुल द्रविड़ के बारे में कुछ शानदार रोचक तथ्य

  • दाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज के रूप में, द्रविड़ का पहला अंतर्राष्ट्रीय विकेट सईद अनवर था।
  • वह एक विकेटकीपर भी थे और 1998-99 में कोका कोला कप में चोटिल नयन मोंगिया की जगह कीपिंग शुरू की थी।
  • भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान के लिए, उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्म श्री और पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।
  • उन्होंने एक टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला है, जहां उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ असामान्य हैट्रिक छक्के लगाए हैं।
  • राहुल द्रविड़ एकमात्र क्रिकेटर भी हैं जिन्होंने प्रत्येक टेस्ट खेलने वाले देश में शतक बनाया है।  2004 में चटगांव में बांग्लादेश के विरुद्ध शतक लगाकर यह उपलब्धि हासिल की। 
  • वह आईपीएल में राजस्थान रॉयल की ओर से खेले
  • वह क्रिकेट के इतिहास में उन दो बल्लेबाजों में से एक हैं जिन्होंने एक ही बल्लेबाजी की स्थिति में 10,000 से अधिक रन बनाए हैं।
  • 2006 में उद्घाटन ICC अवार्ड्स में उन्हें प्लेयर ऑफ द ईयर और टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर नामित किया गया था।
  • द्रविड़ के नाम टेस्ट में एक गैर-विकेटकीपर खिलाड़ी द्वारा सर्वाधिक कैच लेने का रिकॉर्ड है।
  • उनके पास टेस्ट क्रिकेट में एक खिलाड़ी द्वारा सबसे अधिक गेंदों का सामना करने का रिकॉर्ड भी है  
  • टेस्ट में किसी एक खिलाड़ी द्वारा क्रीज पर सबसे अधिक समय बिताने का भी रिकॉर्ड राहुल द्रविड़ के नाम है।    
  • राहुल द्रविड़  हिंदी, अंग्रेजी, मराठी और कन्नड़ में धाराप्रवाह बोलते  हैं।

Share This Post With Friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!

Discover more from History in Hindi

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading