Search Results for: B.R.Ambedkar-वो भीमराव अम्बेडकर जिन्हें आप नहीं जानते होंगे

| |

B.R.Ambedkar-वो भीमराव अम्बेडकर जिन्हें आप नहीं जानते होंगे-अम्बेडकर जयंति 2022 पर विशेष

B.R.Ambedkar-वो भीमराव अम्बेडकर जिन्हें आप नहीं जानते होंगे       आज इस ब्लॉग में हम  बात रहे हैं हैं भारत का संविधान बनाने वाले बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की। उनकी ज़िंदगी से जुड़े कुछ अद्भुद किस्से हम आपके लिए इस ब्लॉग में लेकर आये हैं जिन्हें पढ़कर आपको पता चलेगा बाबा साहब इतने महान क्यों हैं…

Procedure for Amendment of the Constitution | भारतीय संविधान में संशोधन की प्रक्रिया

     भारतीय संविधान नम्यता और अनम्यता का अनोखा मिश्रण है। इसका तातपर्य है कि इसके संशोशण की प्रक्रिया न तो इंग्लैंड के संविधान की भांति अत्यंत लचीली है और न ही अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया या कनाडा के संविधान की भांति अत्यंत कठोर है।   भारतीय संविधान निर्माता विश्व के संघात्मक संविधान के सञ्चालन की कठनाइयों से…

| |

अम्बेडकर ने क्यों कहा कि ‘वह हिंदू पैदा हुए थे लेकिन हिंदू नहीं मरेंगे’

     डॉ० भीमराव अम्बेडकर ने अपने जीवन में जातीय छुआछूत का दंश झेला, जिसके कारण उन्हें जीवन में बहुत अपमान और तिरस्कार झेलना पड़ा। इस लेख में हम अम्बेडकर के उस कथन के बारे में चर्चा करेंगे जब उन्होंने कहा “वह हिंदू पैदा हुए थे लेकिन हिंदू नहीं मरेंगे।” आखिर इसके पीछे का मूल कारण…

मुग़लकालीन आर्थिक और सामाजिक जीवन की विशेषताएं
|

मुग़लकालीन आर्थिक और सामाजिक जीवन की विशेषताएं

         मुगल काल के दौरान भारत की आर्थिक स्थिति के संबंध में इतिहासकारों द्वारा परस्पर विरोधी विचार व्यक्त किए गए हैं। एक ओर, हम कई अकालों के बारे में सुनते हैं जो अनकही पीड़ा का कारण बनते हैं और दूसरी ओर, हम अकबर महान और शाहजहाँ के स्वर्ण युग के बारे में सुनते हैं।इस ब्लॉग…

कोल्हापुर प्रांत के राजर्षि शाहू महाराज,जीवन,उपलब्धियां,आरक्षण के जनक,दलितों और महिलाओं के उद्धारक
| |

कोल्हापुर प्रांत के राजर्षि शाहू महाराज,जीवन,उपलब्धियां,आरक्षण के जनक,दलितों और महिलाओं के उद्धारक

   शाहू जी महाराज को भारत में दबी-कुचली जातियों के उद्धारक के रूप में जाना जाता है। उन्होंने समाज में दलितों के साथ साथ महिलाओं के उद्धार के लिए भी प्रयास किये। उन्हें भारत में आरक्षण के जनक के रूप में भी जाना जाता है। आज इस ब्लॉग में हम महान शाहू जी महाराज के…

भारत के बहुजनों को  मैल्कम एक्स की जीवनी जरूर पढ़नी चाहिए | The Bahujans of India must read the biography of Malcolm X
| |

भारत के बहुजनों को मैल्कम एक्स की जीवनी जरूर पढ़नी चाहिए | The Bahujans of India must read the biography of Malcolm X

 मैल्कम एक्स (एक्स), नस्लीय असमानता के खिलाफ युद्ध छेड़ने वाले महान अफ्रीकी-अमेरिकी योद्धा।      अमेरिका में नस्लीय असमानता के खिलाफ एक लंबा संघर्ष चला, जिसमें कई महान नेताओं ने अपनी अहम भूमिका निभाई। इन सब में मैल्कम एक्स के नाम की एक अलग ही पहचान है।   यूरोपीय मूल के लोगों ने 15वीं शताब्दी के…

सत्यशोधक समाज की स्थापना किसके द्वारा और क्यों की गई | biography of mahatma jyotiba phule in hindi
| |

सत्यशोधक समाज की स्थापना किसके द्वारा और क्यों की गई | biography of mahatma jyotiba phule in hindi

 ज्योतिबाफूले का संछिप्त परिचय   जन्म:            11 अप्रैल 1827 जन्म स्थान:       सतारा, महाराष्ट्र माता-पिता:       गोविंदराव फुले (पिता) और चिमनाबाई (मां) जीवनसाथी:      सावित्री फुले बच्चे:             यशवंतराव फुले (दत्तक पुत्र) शिक्षा:            स्कॉटिश मिशन हाई स्कूल, पुणे; संघ:              सत्यशोधक समाज विचारधारा:      उदारवादी; समतावादी; समाजवाद धार्मिक मान्यताएं: हिंदू धर्म प्रकाशन:       तृतीया रत्न (1855); पोवाड़ा: छत्रपति शिवाजीराजे भोसले यांचा (1869); शेतकरायचा…

| | |

अमेरिका ने वियतनाम युद्ध में क्यों भाग लिया? वियतनाम युद्ध से जुड़े चौंकाने वाले और रोचक तथ्य

  वियतनाम युद्ध की पृष्ठभूमि        वियतनाम युद्ध तब शुरू हुआ जब द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापानियों द्वारा वियतनाम, लाओस और कंबोडिया सहित इंडोचीन नामक एक फ्रांसीसी उपनिवेश पर हमला किया गया था।       वियतनाम पर जापानी आक्रमण के जवाब में, 1941 में एक वियतनामी राष्ट्रवादी आंदोलन का गठन किया गया था…

| |

बंगाल का गौड़ साम्राज्य, शंशांक, हर्ष से युद्ध, राज्य विस्तार, शशांक का धर्म और उपलब्धियां

       महान गुप्त साम्राज्य (तीसरी-छठी शताब्दी ईस्वी) के राजनीतिक विघटन के परिणामस्वरूप, पूर्वी भारत में 6वीं शताब्दी के अंत में गौड़ साम्राज्य अस्तित्व में आया। इसका मुख्य क्षेत्र कर्णसुवर्ण (आधुनिक मुर्शिदाबाद शहर के पास) में राजधानी के साथ, भारत में बंगाल राज्य और बांग्लादेश देश के उत्तरी भागों में स्थित था। एक संक्षिप्त अवधि के…