ताइवान भूकंप, ताजा खबर | Taiwan earthquake, latest news

ताइवान भूकंप, ताजा खबर | Taiwan earthquake, latest news

Share this Post

ताइवान भूकंप, ताजा खबर | Taiwan earthquake, latest news

ताइवान भूकंप, ताजा खबर | Taiwan earthquake, latest news
सांकेतिक चित्र-pixaby

ताइवान भूकंप, ताजा खबर | Taiwan earthquake, latest news

ताइवान भूकंप: 23 साल पहले एक ही रात में 50 से ज्यादा बार झटके महसूस किए गए थे, जबर्दस्त तबाही

यह पहली बार नहीं है जब ताइवान में इतना भयानक भूकंप महसूस किया गया हो। करीब 23 साल पहले आज ही के दिन 21 सितंबर को ताइवान में भूकंप ने कहर बरपाया था।

खबर विस्तार से

भूकंप ने ताइवान को हिला कर रख दिया। ताइवान में पिछले 24 घंटे में भूकंप के तीन बड़े झटके महसूस किए गए। इसे देखते हुए जापान ने सुनामी का अलर्ट जारी किया है। बताया जा रहा है कि भूकंप का केंद्र दक्षिणपूर्वी क्षेत्र में स्थित ताइतुंग काउंटी में है. इसी इलाके में शनिवार 17 सितंबर को 6.4 की तीव्रता वाला भूकंप आया था। इसके बाद सुबह 6.8 और दोपहर 7.2 बजे भूकंप आया था। इसका केंद्र ताइतुंग की सतह से 10 किलोमीटर नीचे पैदा हुआ था।

ताइवान की धरती पर शनिवार रात से अब तक 50 से ज्यादा बार भूकंप के झटके महसूस किए जा चुके हैं। जिसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर साढ़े तीन से साढ़े पांच के बीच रही। भूकंप के तेज झटके से दो मंजिला इमारत ढह गई और ट्रेन भी एक जगह पटरी से उतर गई।

23 साल पहले ताइवान में हुई थी तबाही

यह पहली बार नहीं है जब ताइवान में इतना भयानक भूकंप महसूस किया गया हो। करीब 23 साल पहले आज ही के दिन 21 सितंबर को ताइवान में भूकंप ने कहर बरपाया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस भूकंप में करीब 2400 लोगों की मौत हुई थी और 10 से ज्यादा लोग घायल हुए थे. सैकड़ों लोग इमारतों के नीचे दब गए। सड़कें और घर पूरी तरह से तबाह हो गए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस भूकंप में एक लाख से ज्यादा लोग बेघर हो गए थे. ताइवान एक बार फिर भूकंप की चपेट में है, जापान की मौसम एजेंसी ने एक मीटर ऊंची सुनामी की चेतावनी जारी की है, प्रशासन ने तट के पास रहने वाले लोगों से तट से दूर रहने का आग्रह किया है।

भारत: अरुणाचल में भी भूकंप के झटके महसूस किये गए

अरुणाचल प्रदेश की दिबांग घाटी में शाम करीब 6.27 बजे 4.4 तीव्रता का भूकंप आया। अधिकारियों ने बताया कि इस भूकंप की गहराई जमीन से 10 किमी नीचे थी। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने यह जानकारी दी।

https://www.onlinehistory.in

Share this Post

Leave a Comment