| | |

Biography of Nikhat Zareen in Hindi, age, family, boyfriend, net worth, and more

Biography of Nikhat Zareen in Hindi, age, family, boyfriend, net worth, and more-निकहत ज़रीन की जीवनी (जन्म तिथि, जन्म स्थान, माता, पिता, करियर, जाति, धर्म, आयु, पेशा, कोच, खेल, शिक्षा, पुरस्कार, स्वर्ण पदक, बॉक्सिंग कैरियर)

Birmingham Commonwealth Games 2022: भारत की बॉक्सर निकहत जरीन ने सेमीफाइनल में पहुँच कर भारत के लिए एक और पदक सुनिश्चित कर दिया।

IMAGE CREDIT-HINDUSTAN TIMES

Biography of Nikhat Zareen in Hindi, age, family, boyfriend, net worth, and more

Birmingham Commonwealth Games 2022: विश्व चैंपियन भारत की मुक्केबाज निकहत जरीन ने बुधवार को बिर्मिंघम में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में बुद्धवार को क्वार्टर फाइनल में वेल्स की बॉक्सर हेलेन पर 5-0 से प्रभावशाली जीत दर्ज कर महिलाओं की लाइट फ्लाईवेट मुक्केबाजी के सेमीफाइनल में पहुँचने के बाद 2022 Commonwealth Games में खुद को और भारत को एक ओर पदक का सुनिश्चित कर दिया।

निकहत, जिनके लिए यह Commonwealth Games में पहला पदक होगा,

निकहत के इस प्रदर्शन के बाद लोग उन्हें गूगल पर सर्च कर रहे हैं। हम आपके लिए यहाँ निकहत के बारे में पूरी जानकारी लेकर आये हैं। तो इस लेख को पूरा पढ़िए।

विश्व चैम्पियनशिप में निकहत का प्रदर्शन

भारत की बॉक्सर निकहत जरीन ने महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप (19 मई 2022) में 52 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने तुर्की के इस्तांबुल में आयोजित फ्लाईवेट फाइनल में थाईलैंड की जितपोंग जुतामास को हराया था।

इस ऐतिहासिक प्रदर्शन और जीत के पश्चात्, निकहत विश्व चैंपियनशिप में सोने का तमगा जीतने वाली बॉक्सर मैरी कॉम, सरिता देवी, जेनी आरएल और लेख केसी के बाद ऐसा कारनामा करने वाली पांचवीं भारतीय महिला मुक्केबाज हो गईं।

IMAGE CREDIT-PINKVILLA

आइए जानते हैं उनकी उम्र, परिवार, करियर, पृष्ठभूमि, शिक्षा आदि के बारे में

नाम

निकहत जरीन

प्रसिद्ध

19 मई 2022 को बॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए

 पदक

स्वर्ण जीता (वर्ल्ड चैंपियनशिप)

जन्म तिथि

14 जून 1996

जन्मस्थान

जिला निजामाबाद, तेलंगाना, भारत

आयु 25 वर्ष

शिक्षा

स्नातक बीए

कॉलेज

निजामाबाद में स्कूल निर्मला हृदय गर्ल्स हाई स्कूल

 कॉलेज

हैदराबाद, तेलंगाना में एवी कॉलेज

हाइट

5 फीट 7 इंच

वजन

52 किलो

आंखों का रंग

काला

बालों का रंग

इस्लाम

धर्म

इस्लाम

राशि चक्र

मिथुन

राष्ट्रीयता

भारतीय

व्यवसाय

मुक्केबाजी

कोच

इमानी चिरंजीवी

वैवाहिक स्थिति

अविवाहित

निकहत जरीन का जन्म

निखत का जन्म 14 जून 1996 को तेलंगाना के निजामाबाद में हुआ था। वह 25 वर्ष की है। वह एक मुस्लिम परिवार से ताल्लुक रखती हैं।

निकहत अपनी चार बहनों में तीसरे नंबर की संतान हैं। उनके पिता का नाम जमील अहमद है जो एक सेल्सपर्सन हैं उनकी मां परवीन सुल्ताना एक सामान्य गृहिणी हैं।

उनकी तीन बहनें हैं, जिनमें से दो बहनों का नाम अंजुम मिनाज और अफनान जरीन हैं और दोनों बड़ी बहनें डॉक्टर हैं। निखत की छोटी बहन बैडमिंटन खिलाड़ी हैं।

निकहत जरीन के चाचा का नाम समसमुद्दीन है। उनके दो बेटे हैं जिनका नाम एतेशामुद्दीन और इतिशामुद्दीन है, जो राष्ट्रीय स्तर के मुक्केबाज हैं।

ALSO RAED-राष्ट्रमंडल खेलों का इतिहास तथा राष्ट्रमंडल खेल 2022 की सम्पूर्ण जानकारी |

निकहत ज़रीन का प्रारंभिक जीवन

निकहत के पिता बताते हैं कि , जब निकहत मात्र तेरह वर्ष की थी, तब उसने अपने परिवार के सदस्यों से अपने दिल की बात कही और बोली कि वह एक मुक्केबाज बनना चाहती है और भारत की ओर से खेलना चाहती है।

उन्होंने अपने चाचा शमशामुद्दीन, जो एक बॉक्सिंग कोच थे, को देखकर बॉक्सिंग में अपनी रुचि विकसित की। निकहत ने अपने शुरुआती दिनों में अपने चाचा को अपने बेटों को प्रशिक्षित करते हुए देखना शुरू कर दिया था।

निकहत ज़रीन के पिता ने 15 साल तक सऊदी अरब में सेल्स असिस्टेंट के रूप में काम किया, इसके बाद उन्होंने अपनी बेटियों को खेल और पढ़ाई में मदद करने के लिए निज़ामाबाद, भारत में स्थानांतरित करने का फैसला किया।

वह कहती हैं कि सिर्फ उनके पिता ने ही उनका साथ दिया है।

ALSO READ-महिला क्रिकेटर स्मृति मंधाना की बायोग्राफी हिंदी में

निकहत जरीन की शिक्षा और प्रारंभिक जीवन

उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा निर्मला हृदय गर्ल्स हाई स्कूल, निजामाबाद से पूरी की। उन्होंने एवी कॉलेज, हैदराबाद से बी.ए. के साथ स्नातक किया।

उनके पिता मोहम्मद जमील अहमद ने उन्हें बॉक्सिंग से परिचित कराया। उन्होंने लगभग एक साल तक उन्हें बॉक्सिंग के शुरुआती दौर में कोचिंग भी दी है।

ALSO READ-Biography of Hima Das | हिमा दास की जीवनी

निकहत के बॉक्सिंग के प्रति रुचि और जूनून को देखकर उनके पिता ने अपनी इस होनहार बेटी को वर्ष 2009 में भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI), विशाखापत्तनम को I. V. राव द्वारा प्रशिक्षित प्राप्त करने के लिए भेज दिया, आई वी राव द्रोणाचार्य पुरस्कार प्राप्त कोच थे।

निकहत जरीन का परिवार

पिता का नाम

जमील अहमद

माता का नाम

परवीन सुल्ताना है

बहन का नाम

अंजुम मिनाज, अफनान जरीन
तीसरी बहन का नाम नहीं पता

निकहत जरीन का करियर

निकहत ज़रीन को उनके पिता द्वारा 2009 में भारतीय खेल प्राधिकरण (विशाखापत्तनम) में नामांकित किया गया था। वहां उन्हें द्रोणाचार्य अवार्डी IV राव से बॉक्सिंग की ट्रेनिंग मिली।

अगले वर्ष 2010 में, निकहत ज़रीन को इरोड नेशनल्स में ‘गोल्डन बेस्ट बॉक्सर’ घोषित किया गया था।

2011 में, उन्होंने तुर्की में आयोजित AIBA महिला जूनियर और यूथ वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में भाग लिया और तुर्की के अपने प्रतिद्वंद्वी उल्कु डेमिर को हराकर स्वर्ण पदक जीता।

2014 में निकहत ने बुल्गारिया में आयोजित की गई यूथ वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में हिस्सा लिया और सिल्वर मेडल जीता।

2015 में, उसने अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजी टूर्नामेंट में भाग लिया और रूस से अपने प्रतिद्वंद्वी मुक्केबाज पाल्टसेवा एकातेरिना को हराकर स्वर्ण पदक जीता।

निकहत ज़रीन ने बैंकॉक में आयोजित 2019 थाईलैंड ओपन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में रजत पदक जीता। उसी वर्ष, उसने सोफिया, बुल्गारिया में आयोजित स्ट्रैंड्जा मेमोरियल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता।

निकहत की उपलब्धियों को देखकर एसी गार्ड्स, हैदराबाद में बैंक ऑफ इंडिया के क्षेत्रीय कार्यालय ने 19 जून 2021 को निकहत ज़रीन को अपना स्टाफ अधिकारी नियुक्त किया।

VISITE OUTER OTHER BLOG

ONLINE HISTORY AND GK

WORLD HISTORY AND BIOGRAPHY

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.