योगी आदित्यनाथ की जीवनी: प्रारंभिक जीवन, शिक्षा, राजनीतिक कैरियर, कुल सम्पत्ति और बहुत कुछ

योगी आदित्यनाथ की जीवनी: प्रारंभिक जीवन, शिक्षा, राजनीतिक कैरियर, कुल सम्पत्ति और बहुत कुछ

Share This Post With Friends

उत्तर प्रदेश के हाल में हुए विधानसभा चुनाव में भारतीय  जनता पार्टी को मिली ऐतिहासिक प्रचंड जीत ने योगी आदित्यनाथ का कद भारतीय राजनीति में बहुत ऊँचा कर दिया है और उन्हें अब भारत के आने वाले प्रधानमंत्री के रूप में भी देखा जाने लगा है। केंद्रीय नेतृत्व ने उन्हें पुनः उत्तरप्रदेश का मुख्यमंत्री चुना और इस प्रकार योगी ने  मुख्यमंत्री के रूप में अपना दूसरा कार्यकाल शुरू किया।  

योगी आदित्यनाथ की जीवनी: प्रारंभिक जीवन, शिक्षा, राजनीतिक कैरियर, कुल सम्पत्ति और बहुत कुछ
image-hindustantimes

योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ भारतीय जनता पार्टी के लोकप्रिय राजनेता हैं जो उत्तर प्रदेश के 21वें मुख्यमंत्री के रूप में पहली बार सत्ता संभाली थी। उन्होंने 19 मार्च 2017 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी और इससे पहले वे गोरखपुर के सांसद थे। दूसरी बार उन्होंने 2022 में पुनः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। उनका जन्म 5 जून 1972 को पौड़ी गढ़वाल जिले के पांचुर गांव में हुआ था और वे भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं। उन्होंने अपनी शिक्षा गोरखपुर के मठ में प्राप्त की थी। उन्होंने एक संत बनने की इच्छा रखते हुए अपनी संघर्षपूर्ण राजनीतिक जीवन की शुरुआत की थी। योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के विकास और सुधार के लिए कई कदम उठाए हैं।

नाम योगी आदित्यनाथ
वास्तविक नाम अजय सिंह बिष्ट
जन्म 5 जून 1972
जन्म स्थान पौड़ी गढ़वाल जिले के पांचु, Uttrakhand
पिता आनंद सिंह बिष्ट
माता सावित्री देवी
शिक्षा गणित में स्नातक की डिग्री
भाई-बहन 7 भाई-बहन हैं, 3 बहनें और 4 भाई हैं। उनके सबसे बड़े भाई मानवेंद्र मोहन बिष्ट हैं, जो कॉलेज लेक्चरर हैं। उनके अन्य भाई शैलेंद्र मोहन बिष्ट हैं, जो भारतीय सेना में सूबेदार हैं, और महेंद्र मोहन बिष्ट, जो एक स्कूल में काम करते हैं। उनकी बहनें शशि सिंह हैं, जो एक चाय की दुकान चलाती हैं, और दो अन्य जिनके नाम ज्ञात नहीं हैं।
पेशा राजनेता
वर्तमान में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री
नेट वर्थ 1.54 करोड़
आयु 51 years

योगी आदित्यनाथ बायो/विकी:

यहां योगी आदित्यनाथ की जीवनी, प्रारंभिक जीवन, उपलब्धियों, विवाद संपत्ति और उद्धरणों पर चर्चा की जाएगी। योगी आदित्यनाथ का असली नाम अजय सिंह बिष्ट है। उनका जन्म 5 जून 1972 को हुआ था। 26 साल की उम्र में, वह सबसे कम उम्र के सदस्य के रूप में 12वीं लोकसभा के लिए चुने गए। आइए हम योगी आदित्यनाथ की जीवनी पर करीब से नज़र डालें, जिसमें उनके बचपन, परिवार, शिक्षा, राजनीतिक करियर और बहुत कुछ की जानकारी शामिल है।

योगी आदित्यनाथ जीवनी

एक राजनेता और गोरखपुर के एक हिंदू मंदिर गोरखनाथ मठ के महंत (मुख्य पुजारी) हैं। वह भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं। वह एक युवा संगठन हिंदू युवा वाहिनी के संस्थापक हैं। वह इस समय उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं।

योगी आदित्यनाथ के जीवन में वह समय भी आया जब 20 अप्रैल, 2020 उनके पिता श्री आनंद कुमार विष्ट का निधन हो गया जो काफी समय से दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती थे। योगी अपने पिता के अंतिम संस्कार  में सम्मिलित होने अपने घर उत्तराखंड नहीं गए।

योगी ने इसके लिए कोरोना से निपटने की जिम्मेदारियों को एक मुख्यमंत्री की पहली प्राथमिकता के तौर पर जनता के सामने रखा। इस पर मीडिया में मिली-जुली प्रतिक्रिया सामने आई। उनके पिता का अंतिम संस्कार  21 अप्रैल, 2020 को हुआ। इसके विपरीत योगी जी ने इस घटना के हफ्तेभर बाद ही कोरोना की प्रचंड लहर के बीच अयोद्ध्या में पुरे लाव-लस्कर के साथ रामन्दिर की आधारशिला रखी।

योगी आदित्यनाथ प्रारंभिक वर्ष

उनका असली नाम अजय सिंह बिष्ट है। उनका जन्म उत्तराखंड में 5 जून 1972 को एक गढ़वाली  राजपूत परिवार में हुआ था। उनके पिता आनंद सिंह बिष्ट वन रेंजर थे। उनकी प्रारंभिक शिक्षा पौड़ी और ऋषिकेश के स्थानीय स्कूलों में हुई। उन्होंने हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय से गणित में स्नातक की डिग्री हासिल की।

 1990 के आसपास, वह अयोध्या राम मंदिर आंदोलन में शामिल हो गए और गोरखनाथ मठ महंत अवैद्यनाथ के मुख्य पुजारी अनुयायी बन गए। उसके बाद, उन्हें ‘योगी आदित्यनाथ’ के रूप में जाना जाने लगा और उन्होंने महंत अवैद्यनाथ की जगह ली।

लगभग 1994 में, महंत अवैद्यनाथ ने योगी आदित्यनाथ को अपना उत्तराधिकारी नियुक्त किया, और वे गोरखनाथ मठ के मुख्य पुजारी बन गए। तब गोरखनाथ ट्रस्ट फंड के स्कूलों, कॉलेजों और अस्पतालों की देखरेख की जिम्मेदारी उन्हीं की थी। परिणामस्वरूप, उन्हें गोरखनाथ मठ का उत्तराधिकारी भी नियुक्त किया गया।

योगी आदित्यनाथ शिक्षा

1977 में, उन्होंने टिहरी के एक स्थानीय स्कूल में प्रवेश लिया। 1987 में उन्होंने हाई स्कूल और 1989 में इंटरमीडिएट किया। अपनी डिग्री के लिए अध्ययन करते हुए, वह 1990 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में शामिल हो गए। उन्होंने 1992 में गणित में स्नातक की डिग्री के साथ श्रीनगर के हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय से स्नातक किया।

योगी आदित्यनाथ एक भारतीय राजनेता हैं जो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में जाने जाते हैं। उनका असली नाम अजय सिंह बिष्ट है। वह एक तेजतर्रार भाजपा नेता हैं जिनका जन्म 5 जून 1972 को पुरी गढ़वाल, उत्तराखंड के एक छोटे से गाँव में हुआ था।

उनके जन्म के समय, उत्तराखंड राज्य उत्तर प्रदेश का एक हिस्सा था। योगी आदित्यनाथ के नाम से मशहूर अजय सिंह बिष्ट ने अपनी शुरुआती पढ़ाई उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले में पूरी की। इसके बाद उन्होंने हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय (HNB गढ़वाल विश्वविद्यालय) से विज्ञान स्नातक की उपाधि प्राप्त की। बीएससी के दौरान गणित उनका पसंदीदा विषय था।

इसके अलावा तैराकी और बैडमिंटन जैसे खेलों में उनकी विशेष रुचि थी। अपनी पढ़ाई के दौरान, आदित्यनाथ देश भर में चल रहे राम मंदिर आंदोलन से जुड़े थे, जहां वे पहली बार महंत अवैद्यनाथ के संपर्क में आए थे।

वर्ष 1993 में वे स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद गोरखपुर पहुंचे और 15 फरवरी 1994 को गोरखनाथ मंदिर के महंत अवैद्यनाथ से दीक्षा लेकर घर छोड़ कर योगी बन गए। इसके बाद जब उनके परिवार को पता चला कि वह संन्यासी हो गए हैं तो उनके पिता गोरखपुर आए और योगी आदित्यनाथ को घर वापस जाने के लिए बहुत समझाया।

लेकिन वे नहीं माने और सेवानिवृत्त होने के बाद वे गोरखपुर में रहने लगे और अपने गुरु के आदेश पर वर्ष 1997 में पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। जब उन्होंने पहली बार लोकसभा चुनाव जीता तब उनकी उम्र महज 26 साल थी। उनके नाम सबसे कम उम्र के सांसद बनने का रिकॉर्ड है। सांसद बनने के बाद उन्होंने हिंदू युवाओं को साथ लाकर हिंदू युवा वाहिनी की आधारशिला रखी।

हालांकि यह संस्था आए दिन किसी न किसी विवाद में फंसती रहती है। योगी आदित्यनाथ गोरखपुर संसदीय सीट से लगातार 5 बार लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं। उन्होंने 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत के बाद 19 मार्च 2017 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

वह वर्तमान में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में लोगों की सेवा कर रहे हैं। उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद भारत के प्रधानमंत्री पद का प्रबल दावेदार माना जाता है।

शारीरिक माप और भौतिक आँकड़े:

साल 2022 में योगी आदित्यनाथ की उम्र 49 साल है। वह अपने शरीर को फिट रखने के लिए योग से जुड़े कई आसन करते हैं। उनकी दिनचर्या में प्राणायाम और सूर्य नमस्कार जैसी योग गतिविधियां शामिल हैं। वह केसर है और हमेशा गेरू वस्त्र (भगवा रंग के वस्त्र) में दिखाई देता है। वे भगवाधारी (भगवाचारी) के नाम से भी पूरे देश में प्रसिद्ध हैं। आजकल उन्हें बुलडोजर बाबा के नाम से भी जाना जाता है।

योगी आदित्यनाथ की हाइट 5 फीट 6 इंच है, जो 168 सेंटीमीटर के बराबर है। उसके शरीर का वजन लगभग 65 किलो है, वह अपने शरीर को फिट रखने के लिए उचित आहार लेता है ताकि उसके शरीर का माप 38-30-12 हो। उसकी आंखों का रंग भूरा है, और उसके बालों का रंग गंजा है।

योगी आदित्यनाथ के परिवार के सदस्य और उनके रिश्ते:

योगी आदित्यनाथ का जन्म एक मध्यमवर्गीय हिंदू राजपूत परिवार में हुआ था। उनका पूरा परिवार हिंदू देवताओं की पूजा करता है और हिंदू धर्म में सच्ची आस्था रखता है। योगी खुद एक कट्टर हिंदूवादी नेता और गोरखनाथ मंदिर के महंत हैं। योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट वन रेंजर थे। 20 अप्रैल 2020 को कोविड लॉकडाउन के दौरान दिल्ली के एम्स अस्पताल में उनका निधन हो गया।

इनकी माता का नाम सावित्री देवी है। उनके घर में उनके माता-पिता के अलावा 3 भाई हैं जिनका नाम महेंद्र सिंह बिष्ट, मनेंद्र सिंह बिष्ट और शैलेंद्र मोहन है। उनके भाई शैलेंद्र मोहन भारतीय सेना की गढ़वाल रेजिमेंट में सूबेदार हैं और उनकी एक पत्नी रश्मि देवी और दो बच्चे हैं। उनके बड़े भाई मनेंद्र सिंह किसान हैं और अपनी पत्नी आशा देवी और दो बच्चों के साथ गांव में ही रहते हैं।

आदित्यनाथ जी के तीसरे और सबसे छोटे भाई महेंद्र सिंह बिष्ट पत्रकार हैं और उनकी एक पत्नी लक्ष्मी देवी और एक बेटा है। उनकी 3 बहनें भी हैं जिनमें बड़ी बहन का नाम शशि देवी है और वह आदित्यनाथ से 6 साल बड़ी हैं।

उनकी दूसरी छोटी बहन का नाम कौशल्या देवी और तीसरी बहन का नाम पुष्पा देवी है। उनके परिवार में कुल मिलाकर उनके 7 भाई-बहन हैं। योगी जी की वैवाहिक स्थिति की बात करें तो वह अविवाहित हैं। वह एक संन्यासी है, जिसके कारण उसने कभी शादी नहीं की, इसलिए योगी आदित्यनाथ की पत्नी का नाम उपलब्ध नहीं है।

योगी आदित्यनाथ नेट वर्थ, आय और वेतन:

योगी आदित्यनाथ की कुल संपत्ति 2023 तक लगभग ₹1.54 करोड़ आंकी गई है। वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में प्रति वर्ष ₹43,80,000 का वेतन अर्जित करते हैं। उनके पास घर, कार और जेवर समेत कई संपत्तियां हैं। आदित्यनाथ एक हिंदू साधु हैं और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सदस्य हैं। उनका जन्म 5 जून 1972 को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले के पंचूर गांव में अजय सिंह बिष्ट के रूप में हुआ था। वह आनंद सिंह बिष्ट और सावित्री देवी के चार बेटों और तीन बेटियों में दूसरे नंबर पर हैं।

आदित्यनाथ ने अयोध्या राम मंदिर आंदोलन में शामिल होने के लिए 1990 के दशक में अपना घर छोड़ दिया था। उस समय के आसपास, वह गोरखनाथ मठ के प्रमुख महंत अवैद्यनाथ के शिष्य भी बन गए। उन्हें महंत अवैद्यनाथ द्वारा “योगी आदित्यनाथ” नाम दिया गया था।

आदित्यनाथ 1998 में गोरखपुर निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय संसद के निचले सदन लोकसभा के लिए चुने गए थे। वह 1999, 2004, 2009 और 2014 में लोकसभा के लिए फिर से चुने गए। 2017 में, उन्हें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया।

आदित्यनाथ एक विवादास्पद व्यक्ति हैं। उन पर भड़काऊ भाषण देने और हिंदुत्व को बढ़ावा देने का आरोप लगाया गया है। 2013 में मुजफ्फरनगर दंगों से निपटने के लिए भी उनकी आलोचना की गई थी।

विवादों के बावजूद, आदित्यनाथ हिंदुत्व ब्रिगेड के बीच एक लोकप्रिय व्यक्ति हैं। उन्हें हिंदुत्व के लिए प्रतिबद्ध एक मजबूत नेता के रूप में देखा जाता है।

हिंदू युवा वाहिनी की स्थापना योगी जी ने की थी 

योगी आदित्यनाथ ने राजनीति में प्रवेश करने के बाद हिंदू युवा वाहिनी की स्थापना की। योगी तब अपने धर्म परिवर्तन के खिलाफ धर्मयुद्ध पर चले गए। उन्होंने अपनी उत्साही हिंदुत्व छवि के परिणामस्वरूप कुछ विवादास्पद टिप्पणियां कीं। योगी अपनी बातों के चलते कई मुद्दों में उलझे हुए हैं।

2007 में गोरखपुर में दंगे भड़कने के बाद योगी को मुख्य संदिग्ध के रूप में हिरासत में लिया गया था। हालाँकि, इसके बाद बहुत भ्रम हुआ और परिणामस्वरूप योगी के खिलाफ कई मुकदमे दर्ज किए गए। दूसरी ओर, इन लड़ाइयों के बाद योगी की ताकत लगातार बढ़ती गई। योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कई आपराधिक आरोप लगाए गए हैं। इन मामलों में दंगा भड़काने, जान से मारने की कोशिश, खतरनाक हथियार रखने, अवैध रूप से जमा होने आदि के आरोप हैं।

योगी आदित्यनाथ से जुड़ा विवाद

योगी आदित्यनाथ अपने करियर के दौरान कई विवादों में रहे हैं। कुछ सबसे उल्लेखनीय विवादों में शामिल हैं:

  • 2007 में, उन्हें भड़काऊ भाषण देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था, जिसके कारण कथित रूप से उत्तर प्रदेश राज्य में सांप्रदायिक हिंसा हुई थी।
  • 2013 में, मुजफ्फरनगर दंगों से निपटने के लिए उनकी आलोचना की गई थी, जिसके परिणामस्वरूप 60 से अधिक लोगों की मौत हुई थी।
  • 2015 में, उन पर एक भाषण देकर हिंदुत्व को बढ़ावा देने का आरोप लगाया गया था जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है और मुसलमानों को देश में रहने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।
  • 2017 में, उन्हें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया था। तब से, उनकी सरकार की नीतियों के लिए उनकी आलोचना की गई, जिन्हें मुसलमानों के खिलाफ भेदभावपूर्ण के रूप में देखा गया है।
  • आदित्यनाथ के समर्थकों का तर्क है कि वह एक मजबूत नेता हैं जो विकास और सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं। उनका यह भी तर्क है कि उनके आलोचक उनके हिंदुत्व के विचारों के कारण उनके खिलाफ पक्षपाती हैं।

आदित्यनाथ के आलोचकों का तर्क है कि वह एक विभाजनकारी व्यक्ति हैं जो अन्य धर्मों के प्रति असहिष्णु हैं। उनका यह भी तर्क है कि उनकी नीतियां उत्तर प्रदेश राज्य के लिए हानिकारक हैं।

योगी आदित्यनाथ के आसपास के विवादों ने उन्हें भारतीय राजनीति में एक ध्रुवीकरण करने वाला व्यक्ति बना दिया है। उनकी प्रशंसा और निंदा दोनों की जाती है, और आने वाले वर्षों में उनकी विरासत पर बहस होने की संभावना है।

सोशल मीडिया हैंडल, मोबाइल  और अन्य संपर्क विवरण:

योगी जी का अकाउंट सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मौजूद है जहां वह अपने फॉलोअर्स के साथ लेटेस्ट तस्वीरें शेयर करते रहते हैं. उनके इंस्टाग्राम पर उन्हें लगभग 3 मिलियन लोग फॉलो करते हैं जहां उन्होंने अब तक कुल 3k से अधिक पोस्ट साझा किए हैं।

वह फेसबुक पर भी मौजूद है जहां उसे 7 मिलियन से अधिक लोग फॉलो करते हैं। विकिपीडिया ने योगी आदित्यनाथ को भी अपने पेज पर कवर किया है। इसके अलावा वह ट्विटर पर भी मौजूद हैं जहां वह 18 मिलियन से ज्यादा फॉलोअर्स के साथ ट्वीट के जरिए अपने विचार साझा करते हैं।

  • फेसबुक @MyogiAdityanath
  • इंस्टाग्राम @myogi_adityanath
  • ट्विटर @myogiadityanath
  • विकिपीडिया योगी_आदित्यनाथ
  • ईमेल contact@yogiadityanath.in
  • yogiadityanath72@gmail.com
  • मोबाइल नंबर 0522 – 2236838, 2235599, 2236985 (मुख्यमंत्री निवास)
  • वेबसाइट www.yogiadityanath.in

योगी आदित्यनाथ के बारे में कुछ रोचक तथ्य:

  • योगी आदित्यनाथ का जन्म 5 जून 1972 को पंचूर, पौड़ी गढ़वाल जिला, उत्तर प्रदेश (वर्तमान उत्तराखंड), भारत में हुआ था।
  • उनका असली नाम अजय सिंह बिष्ट है।
  • तैराकी और बैडमिंटन जैसे खेलों में उनकी विशेष रुचि थी।
  • उन्हें महंत योगी आदित्यनाथ के नाम से जाना जाता है।
  • वह गोरखपुर, उत्तर प्रदेश में गोरखनाथ मंदिर के महंत हैं।
  • वह दूसरी बार (2022 -वर्तमान) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी हैं।
  • वे पहली बार 1998 में गोरखपुर सीट से विधायक चुने गए थे।
  • उसके बाद वे लगातार 5 बार लोकसभा चुनाव में चुने गए।
  • उनकी राजनीतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) है

Share This Post With Friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!

Discover more from History in Hindi

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading